Three self-styled commanders of the CPI Maoist surrendered

जम्मू. जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान की ओर से मंगलवार को किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक उप निरीक्षक शहीद हो गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। 

यह घटना ऐसे दिन हुई है जब बीएसएफ अपना स्थापना दिवस मना रही है। बीएसएफ की ओर से जारी एक वक्तव्य में कहा गया, “राजौरी सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से बिना उकसावे के संघर्ष विराम का फिर से उल्लंघन किया गया। इस हमले में बीएसएफ के उप निरीक्षक पाओतिंसत गुइते शहीद हो गए जो अग्रिम चौकी पर तैनात थे। उन्होंने न केवल शत्रु की गोलीबारी का जवाब दिया बल्कि अपने कई साथियों की जान भी बचाई।” वक्तव्य में कहा गया कि शहीद अधिकरी ने सर्वोच्च प्रतिबद्धता का परिचय दिया और कर्तव्य का निर्वहन करते हुए प्राणों की आहुति दी। 

बीएसएफ के महानिरीक्षक (जम्मू फ्रंटियर) एन एस जामवाल ने उप निरीक्षक को श्रद्धांजलि दी और कहा कि वह एक बहादुर और निष्ठावान अधिकारी थे। वक्तव्य में कहा गया, “कृतज्ञ राष्ट्र उनके सर्वोच्च बलिदान और कर्तव्य के प्रति समर्पण का हमेशा ऋणी रहेगा। अधिकारी का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।” बीएसएफ के वक्तव्य में कहा गया कि शहीद अधिकारी का पार्थिव शरीर विमान द्वारा इम्फाल के माफुकूकी गांव भेजा जाएगा जहां पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनकी अंत्येष्टि की जाएगी। (एजेंसी)