‘ये अंदर की बात है, बाहर ना करें’, सिब्बल और आज़ाद पर क्यों भड़के अमरिंदर सिंह

चंडीगढ़: कांग्रेस (Congress) के अंदर शुरू बयानबाज़ी का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है. कपिल सिब्बल (Kapil Sibbal) और गुलामनबी आज़ाद (Gulam Nabi Azad) के हालिए दिए बयान पर पंजाब (Panjab) के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amrindar singh) ने हमला बोला है. गुरुवार को पत्रकारों से बात करते हुए सिंह ने कहा, “कांग्रेसी मुद्दों को सार्वजनिक मंच पर नहीं उठाते। अगर आप कांग्रेस छोड़ना चाहते हैं तो ऐसी बातें करें.”

ज्ञात हो कि कपिल सिब्बल और गुलाम नबी आज़ाद पिछले कई दिनों से कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पर बदलाव को लेकर आवाज उठते रहे हैं. बिहार चुनाव में मिली हार के बाद सिब्बल में जहां शीर्ष नेतृत्व को लेकर सवाल खड़े किए थे, वहीं आज़ाद ने पार्टी के अंदर चुनाव कराने और नया अध्यक्ष बनाने को लेकर कहा था. 

जब तक सोनिया चाहे अध्यक्ष रहे मुख्यमंत्री

अमरिंदर ने कहा, “सोनिया गांधी जी पार्टी अध्यक्ष हैं और वह तब तक रहेंगी जब तक वह छोड़ना नहीं चाहतीं. जिसके बाद, वह और कार्यसमिति इस पर निर्णय लेंगे. बदलाव की जरूरत कहां है ?.”

मामलों को आंतरिक रूप से उठाया जाना चाहिए  

कैप्टन ने कपिल सिब्बल और आज़ाद  के दिए बयानों के सवाल पर कहा कि, “कौन कहता है कि कांग्रेस में लोकतंत्र नहीं है? यदि आप कांग्रेसी हैं तो मुद्दों को सार्वजनिक मंच पर नहीं लिया जाना चाहिए। अगर आप कांग्रेस छोड़ना चाहते हैं तो ऐसी बातें करें. लेकिन अगर आप पार्टी में हैं, तो ऐसे मामलों को आंतरिक रूप से उठाया जाना चाहिए।”