CORONA JAH

    ओम प्रकाश मिश्र 

    रांची. झारखंड (Jharkhand) के कई जिलों से भारी तादाद में कोरोना मरीजों (Corona Patients) के मिलने की खबर लगातार आ रही है। प्रशासन सतर्क है, रोकथाम की गतिविधियां तेज कर दी गयी है। आम लोगों पर खौफ का दहशत फिर दस्तक देने लगा है। कोरोना (Corona) की भयावहता को देखते हुए कई घरों को सील (Seal) कर दिया गया है, प्रशासनिक अधिकारी खुद कोरोना संक्रमित क्षेत्रों का मुआयना कर रहे है। राज्य में सक्रिय कोरोना मरीजों की संख्या 4,112 हो गयी है, इनमें से केवल रांची में सक्रिय मरीजों की संख्या 2,196 हो गई है। रांची में कई जगहों पर कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। रांची के डोरंडा स्थित मेकॉन कॉलोनी क्षेत्र में 40 लोगों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि होने के बाद आज सुबह यहां के 30 घरों को माइक्रो कॉन्टेंटमेंट जोन (Micro Containment Zone) घोषित कर दिया गया। इन घरों को सील कर दिया गया है और इन घरों में रहने वाले लोगों को घर से बाहर निकलने पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। 

    कोरोना की रोकथाम और आम लोगों को सतर्क करने के लिए गठित इन्सिडेंट कमांडरों की टीम के अरविन्द ओझा ने बताया कि जांच के दौरान कॉलोनी में रहने वाले 40 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रत्येक व्यक्ति को मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है और घरों से बाहर निकलने में पूर्ण प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। इन घरों के बाहर कोविड-19 संक्रमित माइक्रो कॉन्टेंटमेंट जोन के पोस्टर लगा दिया गया है।

    विद्यालय में मिल रहे कोरोना संक्रमित

    अभी दो दिन पहले ही रांची के बुंडू प्रखंड स्थित इंदिरा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय के छात्रावास में 28 छात्राओं समेत एक सुरक्षा कर्मी के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी, वहीँ रांची के बिशप बेस्ट कौट गर्ल्स स्कूल में जांच के दौरान आज 16 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। स्कूल में पेरेंट्स–टीचर मीटिंग रखी गयी थी। जांच के बाद एक साथ 16 लोगों के कोरोना संक्रमित पाए जाने से स्कूल प्रबंधन और अभिभावकों में दहशत का माहौल है। एक साथ इतने तादाद में कोरोना संक्रमित मिलने से स्कूल प्रबंधन ने पूरे स्कूल कैम्पस को सेनेटाइज करने का निर्णय लिया है। इन दो स्कूलों के अलावा नामकुम स्थित केंद्रीय विद्यालय में भी 10 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। स्कूल के समीप स्थित भारतीय लाख एवं राल अनुसंधान केंद्र के 4 कर्मचारी भी संक्रमित हुए  हैं। केन्द्रीय विद्यालय में आयोजित एक कर्मचारी के विदाई समारोह के बाद नामकुम क्षेत्र में कोरोना संक्रमण तेजी से फैला है।

     ट्रेवल हिस्ट्री और कांटेक्ट ट्रेसिंग की सूची साझा करने का निर्देश

    कोरोना के प्रसार की रोकथाम के लिए झारखंड सरकार के स्वास्थ्य सचिव के के सोन के निर्देश पर बेड़ो प्रखंड के प्रखंड विकास पधाधिकारी, विजय कुमार सोनी, चिकित्सा पदाधिकारी विनीता प्रसाद समेत कई पदाधिकारियों ने 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को वेक्सिन लगाने और कोरोना के प्रति जागरूकता लाने के लिए प्रेरित किया। आज रांची के उपायुक्त छवि रंजन ने मेकॉन कॉलोनी का निरिक्षण कर उन्होंने पदाधिकारियों से ट्रेवल हिस्ट्री और कांटेक्ट ट्रेसिंग की सूची साझा करने का निर्देश दिया। साथ ही इस कॉलोनी में मजिस्ट्रेट तैनात करने का भी आदेश दिया। उपायुक्त ने रांची के लगभग 14 जगहों का औचक निरिक्षण किया और सम्बंधित पदाधिकारियों को कॉन्टेंटमेंट जोन बनाने में जारी दिशा-निर्देशों का पूरी  तरह पालन करने का निर्देश दिया।

    राज्य में बढ़ रही मरीजों की संख्या

    राज्य में सक्रिय मरीजों की संख्या 4112 तक पहुंच गई है, जिसमें केवल रांची में सक्रिय मरीजों की संख्या 2196 है। संक्रमित मरीजों के लिए अस्पतालों में बेड की संख्या कम पड़ने लगी है। इधर, कोरोना की भयावहता को देखते हुए एयरपोर्ट प्रबंधन भी सतर्क हो गया है। एयर पोर्ट टर्मिनल पर आने जाने वाले सभी यात्रियों के लिए मास्क लगाने और हाथों को सेनेटाइज करना अनिवार्य कर दिया है। एयर पोर्ट पर जगह-जगह पर सामाजिक दूरी बनाए रखने के कड़े निर्देश दिए गए है। मास्क के उपयोग का अनुपालन स्पर्श रहित यात्री सुविधाओं का संचालन पर विशेष जोर दिया गया है। यात्रियों के लिए अतिरिक्त कर्मियों को तैनात किया गया है, ताकि यात्रियों को सुरक्षित और व्यवस्थित तरीके से विमान में बैठाया जा सके। कोरोना निर्देशों का सख्ती से पालन के लिए समर्पित कर्मियों की टीम गठित कर निगरानी और दंडात्मक कार्रवाई के भी निर्देश जारी किए गए है।