ashok gahlot

जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) ने बुधवार को कोरोनो वायरस (Corona Virus) संक्रमण के प्रसार की जांच के लिए जागरूकता अभियान शुरू करने के केंद्र के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि इसके सिर्फ जन आंदोलन की मदद से हराया जा सकता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पहले ही यह मुहिम छोड़ रखी है और वह सफलतापूर्वक चल रही है। गहलोत ने ट्वीट किया कि यह अच्छा है कि केंद्र सरकार कोविड-19 (COVID-19) के खिलाफ जन जागरूकता अभियान शुरू करेगी। राजस्थान में हमने पहले ही इस तरह का अभियान ‘कोरोना के विरूद्ध जन आंदोलन’ दो अक्टूबर गांधी जयंती पर शुरू किया, जो सफलतापूर्वक चल रहा है। उन्होंने आगे लिखा, ‘‘कोरोना को केवल जन आंदोलन के साथ हराया जा सकता है।”

गहलोत ने कहा कि कोरोना (वायरस संक्रमण) के विरूद्ध जन आंदोलन में राज्य की जनता ने बढचढ कर भाग लिया है। उन्होंने कहा कि इस मुहिम के जरिये जनता को जो संदेश दिया गया है उसमें बताया गया है कि हमें वायरस से डरने की नहीं बल्कि सावधानी बरतने की जरूरत है। इस जन आंदोलन के परिणामस्वरूप ज्यादा से ज्यादा लोगों ने मास्क पहनना शुरू किया, दो गज की दूरी के नियम का पालन करने लगे और स्वयं भी बार-बार हाथ धोते हैं और दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हर तरह से आम जनता इस मुहिम में भाग ले रही है, लोग मास्क बांट रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान में जनता की भागीदारी और उनके समर्थन से हम वायरस को हरा देंगे।(एजेंसी)