Cyber criminals have not spared even the Deputy Commissioner of Ranchi, have registered a Facebook account, asked for money

    ओमप्रकाश मिश्र 

    रांची. साइबर ठग अपने टेक्नोलाजी और हिम्मत का परिचय देते हुए आम लोगों के अलावा प्रशासनिक अधिकारियों (Administrative Officers) को भी अपना निशाना बनाने लगे है। सोशल मीडिया (Social Media) के माध्यम से लोगों को ठगने वाले ठगों ने रांची (Ranchi) के उपायुक्त  को भी नहीं बख्शा। साइबर अपराधियों ने रांची उपायुक्त की क्लोन आईडी बना ली और इसके माध्यम से वो लोग उपायुक्त के नाम से कई लोगों से मोटी रकम मांगने लगे। इस बाबत कुछ लोगों को शक होने पर जब उन्होंने उपायुक्त को इसकी जानकारी दी तो उपायुक्त दंग रह गए। उन्होंने तुरंत इसकी सुचना साइबर क्राईम को दी। साइबर क्राईम डीएसपी यशोधरा ने बताया कि सूचना मिलते ही साइबर ब्रांच रांची की तरफ से आईडी को डिलिट करने के लिए आवेदन दिया गया और इसकी सुचना फेसबुक संचालकों तक पहुंचाई गई। सोमवार रात को फेसबुक ने इस पर कार्रवाई करते हुए क्लोन एकाउंट को डिसेबल कर दिया।

    रांची उपायुक्त का फेसबुक आईडी हैक कर पैसा मांगने की गंभीरता पर त्वरित  कार्रवाई के लिए उपायुक्त रांची छवि रंजन ने  रांची के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र कुमार झा को एक आवेदन भी दिया है। आवेदन पाने के पश्चात  पुलिस साइबर अपराधियों को ढूंढने में लग गई है। 

    50 हजार रुपए तक की मांगी मदद

    साइबर अपराधियों ने रांची उपायुक्त का आईडी हैक कर कई लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजा। रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करने के बाद साइबर अपराधियों ने पूछा कि अभी आप कहां है। आपके पास पे फोन या गुगल पे है क्या। इसके बाद किसी से 50 हजार तो किसी से 30 हजार रुपए तक की मांग करने लगे। 

    उपायुक्त  को देनी पड़ी सफाई

    जब रांची के उपायुक्त  छवि रंजन को इसकी सूचना मिली तो उन्होंने तुरंत इसका स्पष्टीकरण जारी किया। उन्होंने कहा कि उनके नाम का फेक एकाउंट बना कर पैसे की मांग की जा रही है। कोई पैसा नहीं दे। देर रात जिला प्रशासन ने भी फेक एकाउंट बनाए जाने की सूचना दी और कहा कि फेक प्रोफाइल बना कर पैसे की मांग की जा रही है।

    फरवरी में कोडरमा के उपायुक्त  का अकाउंट भी हुथा था हैक

    इससे पहले फरवरी में साइबर अपराधियों  ने कोडरमा जिले के उपायुक्त रमेश घोलप और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. एहतेशाम वकारीब का निजी फेसबुक अकाउंट को भी हैक कर लिया था। जिसमे मैसेंजर के जरिए लोगों को मैसेज कर पैसे की मांग की गई थी।