महागठबंधन का घोषणापत्र ‘वचन देकर कुछ नहीं करने वाला ढपोरशंख’: सुशील मोदी

पटना. बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने विपक्षी महागठबंधन के घोषणापत्र को ‘वचन देकर कुछ नहीं करने वाला ढपोरशंख’ करार दिया और कहा कि राजद (RJD) सहित विपक्ष वोट के लिये चांद जमीन पर लाने का वादा भी कर सकता है। सुशील मोदी ने ट्वीट किया, “महागठबंधन का घोषणापत्र ढपोरशंख है, जो वचन देता है लेकिन करता कुछ नहीं है।”

उन्होंने कहा कि ये किसानों की कर्ज माफी या दस लाख लोगों को नौकरी जैसे वचन देते हैं, लेकिन उसे पूरे नहीं कर सकते। विपक्ष पर निशाना साधते हुए सुशील मोदी ने कहा कि वे बाहुबली, बलात्कार के आरोपी और भ्रष्टाचार-प्रिय साथियों की मिलीभगत से सत्ता को केवल लूट का जरिया बनाना जानते हैं।

 

बिहार के उपमुख्यमंत्री ने कहा कि लालू प्रसाद कभी तो शिक्षकों की डिग्री को फर्जी बता कर सबकी नौकरी लेना चाहते थे, लेकिन उनकी पार्टी आज शिक्षकों की सबसे बड़ी हितैषी बन रही है। सुशील मोदी ने कहा, “वे तो वोट लेने के लिए चांद पर जमीन देने का भी वादा कर सकते हैं।”

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि बिहार में राजग सरकार ने साढ़े तीन लाख शिक्षकों को नौकरी दी, 15 साल के भीतर उनके वेतन में 60 फीसद वृद्धि की और अब उन्हें ईपीएफ का लाभ भी मिल रहा है।

गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर विपक्षी महागठबंधन ने शनिवार को अपना संकल्प पत्र जारी किया जिसमें 10 लाख युवाओं को रोजगार देने, पलायन रोकने, शिक्षकों को समान कार्य के लिये समान वेतन देने, छात्रों की परीक्षा के आवेदन फार्म की फीस माफ करने, कृषि संबंधी हालिया कानून को समाप्त करने, उद्योगों को बढ़ावा देने सहित कई वादे किये गए हैं ।  (एजेंसी)