File Photo
File Photo

    जम्मू. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) की राज्य कार्यकारी समिति (एसईसी) ने केंद्र शासित प्रदेश में कोविड-19 (COVID-19) की स्थिति की समीक्षा के बाद रविवार को शिक्षण संस्थानों के बंद रहने की अवधि 15 जुलाई तक बढ़ा दी और पहले से प्रभावी कई दिशानिर्देशों को बरकरार रखा।

    इससे पहले 20 जून को एसईसी ने कोविड-19 की स्थिति में सुधार के मद्देनजर केंद्र शासित प्रदेश के 20 में से आठ जिलों से सप्ताहांत कर्फ्यू हटा दिया था। हालांकि, समूचे जम्मू कश्मीर में रात्रिकर्फ्यू जारी है।

    मुख्य सचिव ए के मेहता एसईसी के अध्यक्ष भी हैं। उन्होंने आदेश जारी कर कहा कि यह फैसला साप्ताहिक कुल नए मामले (प्रति 10 लाख की आबादी पर), कुल संक्रमण दर, अस्पतालों में मरीजों की संख्या, मृत्यु दर और लक्षित आबादी के टीकाकरण पर केंद्रित बैठक में लिया गया।

    आदेश के अनुसार, “जिन पाठ्यक्रमों/कार्यक्रमों में प्रयोगशाला/अनुसंधान/थीसिस कार्य के लिए छात्रों की उपस्थिति और इंटर्नशिप अनिवार्य होती है, उन्हें छोड़कर सभी विश्वविद्यालय, कॉलेज और तकनीकी कौशल विकास संस्थान 15 जुलाई तक छात्रों को परिसर/व्यक्तिगत शिक्षा प्रदान करने के लिए बंद रहेंगे। इन सभी संस्थानों में ऑनलाइन पठन-पाठन जारी रहेगा।” (एजेंसी)