I did not, the public named 'Corona Express': Mamta Banerjee

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 13वें ‘नंदीग्राम दिवस’ के मौके पर दुनिया भर में राजनीतिक हिंसा में मारे गए लोगों को याद किया। मुख्यमंत्री ने पूर्व मेदिनीपुर जिले के नंदीग्राम में पूर्ववर्ती वाम मोर्चे की सरकार के दौरान हुई हत्याओं को ‘‘नई सुबह के नाम पर नृशंस जनसंहार” करार दिया।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘आज नंदीग्राम दिवस है। नई सुबह के नाम पर जनसंहार की 13वीं बरसी। मैं दुनिया भर में राजनीतिक हिंसा में जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धांजिल अर्पित करती हूं। शांति की हमेशा जीत हो।” नंदीग्राम में 2007 में बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस के नेतृत्व में किसानों ने तत्कालीन वाम मोर्चे की सरकार के प्रस्तावित विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईजेड) के खिलाफ बड़ा प्रदर्शन शुरू किया था।

14 मार्च, 2007 में नंदीग्राम में जमीन अधिग्रहण का विरोध करने वाले लोगों के ऊपर पुलिस ने गोलियां चलाईं थी, जिसमें 14 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं नवंबर, 2007 को झड़प में कई लोगों की मौत हुई थी। तृणमूल कांग्रेस 2012 से प्रत्येक साल 10 नवंबर को ‘ नंदीग्राम दिवस’ के रूप में मनाती है।(एजेंसी)