Health Ministry gave relief in guidelines for handing over dead bodies to suspected families of covid-19

जयपुर. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को कहा कि देश की आंतरिक व बाह्य सुरक्षा केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की प्राथमिकता है और इस दिशा में इन छह साल में जो काम हुआ है वह बीते 50-60 साल में भी नहीं हुआ। गडकरी भारतीय जनता पार्टी की ‘राजस्थान जनसंवाद वर्चुअल रैली’ को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘’देश की आतंरिक व बाह्य सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। हम पहले दिन से कहते आ रहे हैं कि राष्ट्रवाद हमारा ध्येय है। यह राष्ट्र सुखी बने, समृद्ध बने, संपन्न बने और शक्तिशाली बने, गांव गरीब मजदूर किसान का कल्याण हो, भय, भूख, आतंक व भ्रष्टाचार से मुक्त हिंदुस्तान बने, यही विचार लेकर हमने काम किया है। इसलिए आज हमारी सभी सीमाएं सुरक्षित हैं।”

गडकरी ने कहा कहा, ‘‘छह साल के अपने कार्यकाल में हमारी सरकार ने आंतरिक व बाह्य सुरक्षा के लिए जो काम किया है .. मैं विश्वास के साथ कहूंगा कि 50-60 साल में जो नहीं हो सका, वह छह साल के अपने कार्यकाल में हमारी सरकार ने कर दिखाया।” उन्होंने कहा, ‘‘देश में आतंकवाद की घटनाएं नहीं के बराबर हैं। कानून व्यवस्था सुरक्षित है। माओवाद व आतंकवादी समाप्ति के कगार पर हैं और हमारे शूरवीर नौजवान देश की सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं। पहली बार ऐसी स्थिति देश में बनाने का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमारी सरकार को है। इस बात का हम सबको गर्व है।”

गडकरी ने कहा, ‘’हम किसी देश की जमीन को हड़पना नहीं चाहते, हम किसी देश में घुसना नहीं चाहते। हमने अपने पड़ोसी भूटान की तरफ टेढ़ी आंख से नहीं देखा, नेपाल के साथ हमने भाईचारे के संबंध रखे और हमेशा उसके साथ खड़े रहे। हमने बांग्लादेश को स्वाधीनता दिलाई, यह इतिहास है।” बिना किसी का नाम लिए गडकरी ने कहा, ‘‘हम किसी पर आक्रमण नहीं करना चाहते, लेकिन अगर हमारी तरफ कोई तिरछी निगाहों से देखेगा तो उसकी निगाहों को उखाड़ कर फेंक दिया जाएगा।”

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए गडकरी ने कहा कि तुष्टिकरण की नीति के चलते कांग्रेस की सरकार आतंकवाद का कड़ाई से मुकाबला नहीं कर सकी। उन्होंने कहा, ‘’पिछले 25 साल का इतिहास याद कीजिए, कितने बम विस्फोट हुए थे, मंदिरों पर हमले हुए, निर्दोषों की हत्याएं हुईं। कांग्रेस की सरकार आतंकवादियों के सामने घुटने टेकने का काम करती रही।” उन्होंने कहा, ‘’वोट बैंक की राजनीति के चलते आतंकवादियों के साथ लड़ाई जिस ताकत से लड़ी जानी थी, उतनी ताकत से लड़ी नहीं गयी। पुलिस वालों को स्पष्ट निर्देश नहीं दिए जा रहे थे। जब हमारी सरकार आई तो आतंकवादियों व आतंकी संगठनों से कड़ी लड़ाई लड़ी जिसका परिणाम है कि आज आतंकवाद लगभग खत्म होने को है।”

गडकरी ने कहा, ‘’हम विस्तारवादी नहीं हैं, हमने किसी देश में जाकर वहां आतंकवादी जैसी हिंसा का समर्थन नहीं किया। हम शांति व अहिंसा चाहते हैं। लेकिन मेरा विश्वास है कि शांति व अहिंसा वही स्थापित कर सकता है जो सामर्थ्यवान है, जो ताकतवर है। वही व्यक्ति, वही संगठन, वही सरकार अपने लोगों की रक्षा कर सकती है।” उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आज भी कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है। गडकरी ने कहा, ‘’आज भी कश्मीर को आतंकवादियों का अड्डा बनाने की कोशिश की जा रही है। तीन बार प्रत्यक्ष लड़ाई में हारने के बाद पाकिस्तान को यह पता है कि सीधी लड़ाई में वह जीत नहीं सकता, इसलिए उसने छद्म लड़ाई शुरू कर दी है जिसके तहत आतंकवादियों को पाकिस्तान में प्रशिक्षण देकर भारत भेजा जा रहा है। आतंकवादियों को लगातार भारत भेजा रहा है।”

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार ने तेजी से देश के बुनियादी ढांचे को बदल दिया क्योंकि ये देश की सुरक्षा के लिए बहुत आवश्यक है। उन्होंने कहा, ‘’आज हमारी सीमाएं सुरक्षित हैं और हमारे जवान अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी लेकर ताकत के साथ खड़े हैं।” गडकरी ने कहा कि उत्तराखंड के पिथौरागढ़ से होते हुए नेपाल और चीन की सीमा के पास से मानसरोवर तक जाने के मार्ग पर काम जोरों से चल रहा है और यह आगामी छह महीने में पूरा हो जाएगा।

गडकरी ने कहा, ‘’हमने जम्मू- कश्मीर में आतंकवाद पर लगाम लगाते हुए वहां विकास की प्रक्रिया को गतिशील किया है। आज जम्मू- कश्मीर में 60 हजार करोड़ रुपये के रोड, टनल, राजमार्ग बनाने के काम केवल मेरे मंत्रालय द्वारा हो रहा है।” उन्होंने कहा, ‘’55 साल का कांग्रेस शासन का इतिहास और मोदी सरकार के छह साल के कार्यकाल को आप देखेंगे तो यही सामने आएगा कि जो काम कांग्रेस शासन के 55 साल में नहीं हो पाए, वो मोदी सरकार के छह साल के कार्यकाल में हुए हैं।” उन्होंने उम्मीद जताई कि कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज की दवा जल्द भारत में उपलब्ध होगी। रैली को केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल व भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने भी संबोधित किया। (एजेंसी)