anil-vij

चंडीगढ़: फ़रीदाबाद के वल्लभगढ़ में 21 वर्षीया छात्रा निकिता हत्याकांड (Nikita Murder Case) की सुनवाई फास्ट्रैक कोर्ट में कराने का निर्णय राज्य सरकार ने लिया है. गुरुवार को राज्य के गृहमंत्री अनिल विज (Home Minister Anil Vij) ने कहा, “बल्लभगढ़ महिला की हत्या के मामले की सुनवाई फास्ट-ट्रैक कोर्ट में की जाएगी, ताकि दिन-प्रतिदिन की सुनवाई हो सके और आरोपी को जल्द सजा मिल सके.”

ज्ञात है कि हरियाणा में फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में सोमवार को अग्रवाल कॉलेज के बाहर 21 वर्षीय युवती की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. मृतक युवती का नाम निकिता है और वह परीक्षा देकर कॉलेज से बाहर निकल रही थी. इस दौरान बाहर सफेद रंग की आई-20 कार में मौजूद दो युवकों ने उसे जबरन किडनैप कर कार में बिठाने की कोशिश की थी. इस मामले को लेकर पुलिस ने मुख्य आरोपी तौसिफ सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है. 

मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित

इसके पहले सरकार ने मामले की जांच करने के लिएएसआईटी का गठन किया था. इसी के साथ जांच टीम को 30 दिनों के अंदर जांच कर चार्जशीट अदालत में दाखिल करने का आदेश सरकार ने दिया था. 

परिवार पर कांग्रेस का दवाब

अनिल विज ने कहा, “बल्लभगढ़ की घटना में कांग्रेस का ही दबाव है, आरोपी कांग्रेस नेताओं का रिश्तेदार है. 2018 में लड़की के परिवार ने जो अपहरण का मामला दर्ज़ कराया था वो कांग्रेस के नेताओं के दबाव में वापस लिया गया. अब जो SIT बनाई गई है, वो मामले में 2018 से जांच करेगी.” 

दोषियों को मिले जल्द से जल्द फांसी 

मृतक छात्रा के पिता ने कहा, “2018 में जो घटना हुई थी उस समय हमने FIR करवाई थी और एक्शन भी लिया गया था. हमने लोक लाज और उनका पॉलिटिकल बैकग्राउंड देखकर केस वापिस ले लिया था. उनकी तरफ से आश्वासन भी मिला था कि कभी कोई परेशानी नहीं होगी। अब मुझे लगता है कि उस समय मैंने गलत किया.”

उन्होंने आगे कहा, “अब दोषियों को जल्द से जल्द फांसी दी जाए और केस का निपटारा किया जाए. भारत की न्यायपालिका पर मुझे पूरा विश्वास है. मैं तो सभी से विनती करता हूं कि कुछ ऐसा कानून बनाया जाए कि अगर सबूत पहले ही मौजूद हों तो अपराधियों को जल्द से जल्द फांसी दी जाए.”