खरमास हुआ खत्म, नीतीश कैबिनेट विस्तार पर टिकी देश की नजरें

पटना: बिहार की राजनीति (Bihar Politics) में लगातार उथल-पुथल मची हुई है। सत्ता में काबिज नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की अगुवाई वाली एनडीए सरकार की मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet Expansion) को लेकर चर्चाओं का दौर शुरू है। प्रदेश सहित पूरे देश की नजरें इस पर लगी हुई है। मकरसंक्रांति के साथ खरमास भी समाप्त हो गया है, जिसके पश्च्यात जल्द ही राज्य कैबिनेट बड़ा हो सकता है। इसी के साथ इसमें कितने भाजपा (BJP) नेताओं और कितने जेडीयू (JDU) नेताओं को मंत्री बनाया जा सकता है इसपर सभी का ध्यान है। 

ज्ञात हो कि, राज्य में लगातार चौथी बार नीतीश कुमार की अगुवाई में एनडीए की सरकार बनाई है। मौजूदा समय में राज्य कैबिनेट में मुख्यमंत्री नीतीश के साथ 13 मंत्री शामिल है। जिसमे भाजपा के सात और जेडीयू के छह मंत्री मंत्री हैं। पिछले कई दिनों से कैबिनेट विस्तार को लेकर चर्चा शुरू है। वहीं इसको लेकर मुख्यमंत्री को पूछे गए सवाल पर विस्तार में हो रही देरी को लेकर भाजपा को जिम्मेदार बताया था। 

शाहनवाज़ हुसैन बन सकते है मंत्री

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज़ हुसैन (Shahanawaz Hussain) को मंत्री बनाया जा सकता है। इसकी अंदेशा इस बात से लगाया जा सकता है कि पार्टी ने उन्हें आगामी होने वाले विधान परिषद उपचुनाव में उप मुख्यमंत्री रहे सुशील मोदी (Sushil Modi) की जगह पर उम्मीदवार बनाया है। इसी के भाजपा के एमएलसी सम्राट चौधरी (Samrat Chaoudhary) के मंत्री बनने की प्रबल संभावना है। 

भाजपा अध्यक्ष ने नीतीश कुमार से की मुलाकात

मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर राज्य भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल ने रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की है. इस दौरान राज्य के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद भी मौजूद थे। मुलाकात के बाद बाहर निकले जायसवाल ने मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर अपने पत्ते नहीं खोले, वहीं उप मुख्यमंत्री ने कहा कि गठबंधन में सब सही चल रहा है।”

भाजपा बनेगी बड़ा भाई 

मंत्रीमंडल में विस्तार से ज्यादा इसपर निगाह टिकी है कि, विधानसभा चुनाव में बड़ा भाई बनकर उभरी भाजपा विस्तार में भी उसी भूमिका में रहेगी या पहले की तरह नीतीश कुमार अपने नेताओं को बड़ी संख्या में मंत्री बनाएंगे। पिछले दिनों भाजपा के एक बड़े नेता ने कहा था कि, कैबिनेट में किस पार्टी के कितने विधायक मंत्री बनते हैं उससे क्या होता है हमारा गठबंधन मजबूत है।