राजस्थान में शुरू तमाशे को बंद कराए प्रधानमंत्री: CM अशोक गहलोत

जयपुर: राजस्थान में शुरू संकट के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर भाजपा पर हमला बोला है. शनिवार को जैसलमेर में होटल के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने प्रधानमंत्री से मदद मांगते हुए कहा, ‘ प्रधानमंत्री को राजस्थान में चल रहे ‘तमाशा’ को रोकना चाहिए. यहां घोड़ों के व्यापार की दर बढ़ी है. क्या है ‘तमाशा’?.’
 
बाग़ी विधायकों पर नरम  
कांग्रेस के बाग़ी पर फिर से नरमी दिखाते और उन्हें संदेश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘अगर विधायकों को शीर्ष नेतृत्व ने माफ़ कर दिया, तो मैं भी सभी को माफ़ कर दूँगा. पार्टी ने मुझे बहुत कुछ दिया है. तीन बार मुख्यमंत्री, एक बार प्रदेश अध्यक्ष, केंद्रीय मंत्री बनाया है.’  उन्होंने कहा, ‘ मैं जो भी कर रहा हूँ वह अपनी पार्टी, लोकतंत्र और राज्य के लोगों के लिए कर रहा हूँ.’ 

नैतिक आधार पर दे इस्तीफ़ा शेखावत 
केंद्रीय मंत्री का इस्तीफ़ा मांगते हुए मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा,’गजेंद्र सिंह शेखावत का नाम संजीवनी सहकारी समिति (कथित घोटाला) में आया है. कोर्ट ने मामले में निर्देश भी दिया है. उन्हें नैतिक आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए.’

भाजपा खरीद-फ़रोख्ता में लगी
भाजपा पर हमला बोलते हुए गहलोत ने कहा,’ भाजपा के नेता खरीद-फ़रोख्ता में लगे हुए हैं, उनका खेल बहुत बड़ा है. केंद्रीय गृह मंत्रालय  और अमित शाह इसमें लगे हुए हैं.’ उन्होंने आगे कहा, ‘ मध्य प्रदेश और कर्नाटक में जो प्रयोग किया वही राजस्थान में कर रही है.’

हमारी लड़ाई व्यक्ति से नहीं, लोकतंत्र के लिए
सीएम ने कहा, ‘ हमारी लड़ाई किसी व्यक्ति या किसी के ख़िलाफ़ नहीं, बल्कि विचारधारा, नीतियों और कार्यक्रमों से है. मुझे लोकतंत्र के अलवा किसी की परवाह नहीं है. लोकतंत्र को बचाने लड़ाई हो रही है’