karaouli

जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में करौली (Karaouli) जिले के बूकना गांव में भूमि विवाद (Land Dispute) की वजह से कथित तौर पर जिंदा जलाने से मरे पुजारी (Priest Family) के परिजनों को सरकार की ओर से आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई गयी है।

सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी, प्रभारी मंत्री अशोक चांदना और विधायक रमेश मीणा ने पुजारी के परिजनों से मुलाकात कर उन्हें सरकारी आर्थिक सहायता प्रदान की। बाद में संवाददाताओं से बातचीत में मुख्य सचेतक जोशी ने कहा कि जिस नीयत के साथ यहां दृश्य बनाया जा रहा है… वेसा नहीं है.. ये पूरा गांव, पूरी सरकार पीड़ित परिवार के साथ है।

सारे समाज के लोग पीड़ित परिवार के साथ है। पूरा गांव उनके साथ खड़ा है। जिले के प्रभारी मंत्री अशोक चांदना ने कहा कि हम मुख्यमंत्री की तरफ से परिवार के प्रति जो उनका दुख है और उनकी संवेदना वो लेकर आये है। करौली से विधायक रमेश मीणा ने कहा कि बूकना का सर्वसमाज पीड़ित परिवार के साथ खड़ा रहा है और आज भी खड़ा है।

कोई भी दिक्कत उन्हें नहीं आयेगी और पूरी सरकार उनके साथ है। मीणा ने बताया कि सरकार की ओर से परिजन के एक सदस्य को संविदा पर नौकरी, 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की गई है। इसके साथ-साथ उनके घर पर चार सरकारी गार्ड सुरक्षा के लिये लगाये गये हैं।

उल्लेखनीय है कि भूमि विवाद में पुजारी वैष्णव को बुधवार को कथित तौर पर आग लगा दी गयी जिनकी बृहस्पतिवार को यहां एसएमएस अस्पताल में मौत हो गयी। आरोप है कि मंदिर के पास की खेती जमीन पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे इन लोगों ने पुजारी पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी थी।

पुजारी हत्या के संबंध पुलिस ने अब तक दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। हिंडौन पुलिस उपाधीक्षक किशोरी लाल मेहरानिया ने बताया कि पुजारी हत्या मामले में रविवार को दिलखुश उर्फ डिल्लू को गिरफ्तार किया था। वहीं शनिवार को एक अन्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार किया था।