महागठबंधन का खेल बिगाड़ने, लालू यादव के साले साधु यादव की पुनः एंट्री

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में जीत के लिए सभी दलों ने अपना पूरा जोर लगा दिया है. इसी मद्देनज़र लालू प्रसाद यादव (lalu Prasad Yadav) के साले साधू उर्फ़ अनिरुद्ध प्रसाद यादव (Anirudh Prasad Yadav) की पुनः राजनीति में एंट्री हो गई है. वह इस बार बीएसपी (BSP) के टिकट पर गोपालगंज सीट से विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है. साधु ने क्षेत्र में अपना प्रचार भी शुरू कर दिया है. 

ज्ञात हो कि साधु यादव बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और राबड़ी देवी (Rabdi Devi) के छोटे भाई है. साधु यादव की पहचान एक बाहुबली के तौर पर भी होती है. उनके ऊपर कई तरह के मुक़दमे दर्ज है. लालू और राबड़ी के मुख्यमंत्री के काल में साधु का पूरे बिहार में बोल बाला था. लेकिन जैसे ही राजद सत्ता से दूर हुई वैसे ही वह राजनीति से दूर हो गए.

महागठबंधन का बिगड़ेगा खेल

अनिरुद्ध यादव उर्फ़ साधु यादव की गोपालगंज जिले में अच्छी पकड़ है. वह इस सीट से दो बार सांसद और विधायक भी रह चुके हैं. 2015 के विधानसभा चुनाव में बरौली विधानसभा से चुनाव लड़ा था, जिसमें उन्हें हार का मुँह देखना पड़ा था. वह अपनी जमानत भी नहीं बचा पाए थे. साधू यादव का फिर से गोपालगंज की राजनीति में पुनः उतरना महागठबंधन को भरी पड़ सकता है. उनके नामांकन दाखिल करते ही जिले का पूरा समीकरण ही बदल जाएगा.

एक सीट का नहीं पूरे जिले का चुनाव 

साधु यादव ने कहा कि, “गोपालगंज विधानसभा का चुनाव सिर्फ गोपालगंज विधानसभा का नहीं बल्कि पूरे जिले का चुनाव होगा.” उन्होंने कहा, “उनके साथ भारी जन समूह है और सुबह से ही लोग उनसे मिलने के लिए आ रहे हैं.”