voting

पटना.  बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 28 अक्टूबर को जिन 71 सीटों पर मतदान हुआ था, उनमें से किसी सीट पर भी पर्यवेक्षकों ने फिर से मतदान कराने की सिफारिश नहीं की है। चुनाव आयोग के सूत्रों ने बीते  शुक्रवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) एच। आर। श्रीनिवास ने निर्वाचन अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर अपनी रिपोर्ट में यह कहा है कि किसी भी सीट पर पुनर्मतदान की आवश्यकता नहीं है।

उन्होंने कहा, ‘‘सामान्य पर्यवेक्षकों ने उम्मीदवारों व राजनीतिक दलों की उपस्थिति में सभी 71 सीटों पर चुनाव के बाद जांच की और इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि राज्य के 16 जिलों के 71 निर्वाचन क्षेत्रों में सभी 31,371 मतदान केंद्रों पर मतदान प्रक्रिया शांतिपूर्ण ढंग से और वैधानिक निर्देशों के अनुसार संपन्न हुई है।” चुनाव के पहले चरण में कुल 55।69 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इस बीच एक विज्ञप्ति के अनुसार सीईओ कार्यालय ने कहा कि 25 सितंबर को आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद से विभिन्न प्रवर्तन एजेंसियों ने अब तक नकदी सहित 50 करोड़ रुपये मूल्य की वस्तुओं को जब्त किया है।