Rajasthan

जयपुर. राजस्थान के आयुर्वेद विभाग ने आम लोगों की रोग प्रतिरोधात्मक क्षमता बढ़ाने के लिए 18 लाख से ज्यादा लोगों को अब तक काढ़ा वितरित किया है और यह प्रक्रिया निरंतर जारी है। राज्य के आयुष तथा चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस जैसी महामारी की रोकथाम के लिए लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए यह पहल की गयी है। उन्होंने कहा कि सरकार आयुर्वेद पद्धति को बढ़ावा देने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

आयुष मंत्री ने कहा कि आयुर्वेद विभाग द्वारा राज्य में 13 मार्च से 24 जून तक 95 हजार से ज्यादा जगहों पर 18 लाख 84041 लोगों को काढ़ा वितरित किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही कोरोना ड्यूटी पर गए 4.92 लाख से ज्यादा लोगों और उनके परिजनों को भी काढ़ा बांटा गया है। उन्होंने बताया कि सरकार की ओर से हौम्योपैथी और यूनानी चिकित्सा पद्धति के द्वारा भी लोगों को कोरोना वायरस से लड़ने के लिए ‘इम्यूनिटी बूस्टर’ दिए जा रहे हैं।

आयुष तथा चिकित्सा मंत्री ने कहा कि मई में आयुर्वेद विभाग द्वारा प्रदेश में गिलोय रोपण अभियान ‘अमृता‘ भी चलाया गया, जिसके तहत चार माह में 1.50 लाख गिलोय पौधे लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कई जगह मरीजों द्वारा चिकित्सकों के साथ अभद्र व्यवहार करने की शिकायत आती है तो कुछ मामलों में चिकित्सकों की भी लापरवाही दिखती है। ऐसी शिकायतें आने पर उन पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी।(एजेंसी)