PTI Photo
PTI Photo

जींद (हरियाणा). दाता सिंह वाला बॉर्डर पर दिल्ली कूच के लिए डेरा डाले बैठे किसानों ने धावा बोल दिया और वे जिला प्रशासन द्वारा खड़े किए गए अवरोधकों को पैदल पार कर गए। इस दौरान पुलिस ने पानी की बौछारों का का प्रयोग किया तो आंदोलनकारी किसानों ने पथराव शुरू कर दिया। हालात बिगड़ते देख पुलिस बल पीछे हट गया। इस दौरान आंदोलनकारियों ने सरकारी गाडिय़ों में तोडफ़ोड़ भी की। फिलहाल जिला प्रशासन हालात पर नजर बनाए हुए है।

किसानों के दिल्ली कूच आह्वान के चलते जिला प्रशासन ने पंजाब को जोडऩे वाले दाता सिंह वाला बॉर्डर को सील किया हुआ है। दोपहर के समय किसानों ने बॉर्डर पर धावा बोल दिया और पैदल डंडे व लाठियां लेकर हरियाणा में घुस गए।

अधिकारियों ने बताया कि किसानों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया गया तो आंदोलनकारी किसानों ने पथराव शुरू कर दिया। वहां खड़ी अधिकारियों की गाड़ियों और अन्य वाहनों के शीशे तोडऩे शुरू कर दिए।

इससे पूर्व हालात बेकाबू होते पुलिस बॉर्डर से कुछ पीछे हट गई। जिला प्रशासन द्वारा त्रिस्तरीय अवरोधकों के ऊपर डाले गए मिट्टी के ढेर की वजह से किसानों के ट्रैक्टर बॉर्डर को पार नहीं कर पाए। अवरोधकों को हटाने के लिए किसान जेसीबी व अन्य साधनों का जुगाड़ करने में लगे हुए हैं। गौरतलब है कि पंजाब सीमा पर दाता सिंह वाला सीमा पर करीब 15 हजार किसान डटे हुए हैं। यहां किसानों को रोकने के लिए भारी पुलिस बल तैनात है। (एजेंसी)