To prevent infection, BMC asks private hospital to keep health workers in the premises

भुवनेश्वर.  विभिन्न झुग्गी बस्तियों में रह रहे निजी अस्पतालों के कई स्वास्थ्य कर्मियों और कर्मचारियों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद भुवनेश्वर नगर निगम (बीएमसी) ने अस्पातल प्रशासन से कहा है कि वह ऐसे कर्मचारियों के रहने की व्यवस्था अपने परिसर में ही करें। एहतियात के तौर पर बीएमसी ने सोमवार को निजी अस्पतालों और नर्सिंग होमों का आदेश दिया है कि वह यह सुनिश्चित करें कि उनके कर्मचारी इन झुग्गी बस्ती क्षेत्र में स्थित अपने घरों में बार-बार न जाएं।

बीएमसी ने अपने आदेश में कहा कि झुग्गी बस्ती क्षेत्रों में अस्पताल कर्मचारियों के बार-बार आने-जाने से संक्रमण के प्रसार का खतरा बढ़ता है और इस संभावित खतरे को टालने के लिए अस्पताल अधिकारियों को कदम उठाना चाहिए। बीएमसी ने अपने आदेश में कहा है कि इन कर्मचारियों को 14 दिन के शिफ्ट में रखे जाने की जरूरत है और इनके रहने की व्यवस्था अस्पताल परिसर में ही की जाए। बीएमसी ने कहा कि 14 दिन के शिप्ट के बाद कर्मचारियों को ड्यूटी से मुक्त करने से पहले उनकी कोविड-19 जांच हो और निगेटिव आए तभी उन्हें भेजा जाए। निगम का कहना है कि यह प्रक्रिया चक्र के आधार पर किया जाना चाहिए।

निगम ने अपने बयान में कहा है कि बीएमसी क्षेत्र की करीब एक-तिहाई आबादी झुग्गी क्षेत्रों में रहती है और यहां सामाजिक दूरी का पालन होना संभव नहीं है क्योंकि घर छोटे हैं औऱ जनसंख्या घनत्व ज्यादा है। अस्पताल कर्मचारियों के यहां आने-जाने से संक्रमण का खतरा पैदा होता है। भुवनेश्वर में अब तक संक्रमण के 314 मामले सामने आए हैं और इनमें से अब 135 लोगों का उपचार चल रहा है। चार मरीजों की मौत हो चुकी है।