Corona Patient

भुवनेश्वर. ओडिशा में 90 साल से ज्यादा उम्र के दो बुजुर्गों ने कोरोना वायरस संक्रमण को मात दे दी है। उनके स्वस्थ होने के बाद चिकित्सा जगत से जुड़े लोगों ने खुशी जताई। सच्चिदानंद मोहंती और धीरेंद्रनाथ दास दोनों ही 91 साल के हैं। इन्हें क्रमश: कटक और भुवनेश्वर के कोविड-19 अस्पतालों में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। इन दोनों को संक्रमण की पुष्टि होने के बाद पांच सितंबर को अस्पताल में भर्ती किया गया था। स्वस्थ होने के बाद दोनों को रविवार को अस्पताल से छु्ट्टी मिल गई।

मोहंती केंद्रपाड़ा कस्बे से ताल्लुक रखने वाले प्रसिद्ध वकील हैं। वह ‘हाइपोथाइरॉइड’ और तंत्रिका तंत्र से जुड़ी बीमारियों से भी पीड़ित थे। संक्रमण की पुष्टि होने पर उन्हें तत्काल अस्पताल के आईसीयू में भेजा गया। उनका इलाज करनेवाले एक डॉक्टर ने कहा, “हम उनकी स्थिति को लेकर चिंता में थे क्योंकि भर्ती होने के एक दिन बाद उनका ऑक्सीजन स्तर नीचे चला गया। हालांकि, उन्हें जब ऑक्सीजन प्रणाली पर रखा गया तो उनकी स्थिति धीरे-धीरे सुधरने लगी।”

मोहंती ने मंगलवार को पीटीआई-भाषा से कहा, “मैं अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण) पी के महापात्र और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की ओडिशा की निदेशक शालिनी पंडित का बुजुर्ग लोगों की अतिरिक्त देखभाल के लिए शुक्रिया अदा करता हूं।” उनके बेटे देबदास का भी इसी अस्पताल में संक्रमण का इलाज चला और वह भी अब स्वस्थ हैं। वह टाइप-2 मधुमेह के मरीज भी हैं।

पत्र सूचना कार्यालय और आकाशवाणी के पूर्व वरिष्ठ अधिकारी धीरेंद्रनाथ दास को भी आईसीयू में भर्ती किया गया था। संक्रमित होने के बाद 91 वर्षीय दास को सांस लेने में तकलीफ होने लगी थी।

दास की बेटी देबदत्ता ने बताया कि उनके पिता ने कहा था कि वह कोरोना वायरस को हराएंगे और डॉक्टरों तथा नर्सों की मदद से ऐसा संभव हो गया। इन दोनों बुजुर्गों के कोरोना वायरस को मात देने पर चिकित्सा जगत से जुड़े कई लोगों ने खुशी जताई है। (एजेंसी)