ABHYAS flight

बालासोर (ओडिशा). भारत ने मंगलवार को ओडिशा के एक परीक्षण केन्द्र से एबीएचवाईएएस- हाई-स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट (एचईएटी) का सफल उड़ान परीक्षण किया। यह जानकारी रक्षा सूत्रों ने दी। सूत्रों ने बताया कि यह परीक्षण रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने यहां पास में चांदीपुर स्थित एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) से किया। सूत्रों ने बताया कि इस पर विभिन्न राडारों और इलेक्ट्रो-आप्टिक प्रणालियों से नजर रखी गई।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस उपलब्धि पर डीआरडीओ को बधाई देते हुए कहा कि एबीएचवाईएएस का इस्तेमाल मिसाइल प्रणालियों के मूल्यांकन के वास्ते एक लक्ष्य के तौर पर किया जा सकता है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘डीआरडीओ ने एबीएचवाईएएस-हाई-स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट (एचईएटी) की आईटीआर बालासोर से सफल उड़ान परीक्षण से आज एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की। डीआरडीओ और उसके हितधारकों को इस उपलब्धि के लिए बधाई।’ 

डीआरडीओ सूत्रों ने बताया कि मंगलवार को परीक्षण के दौरान दो प्रदर्शक यानों की सफलतापूर्वक परीक्षण उड़ान संचालित की गई। एबीएचवाईएएस को डीआरडीओ के एयरोनॉटिकल डेवलप्मेंट इस्टैब्लिशमेंट (एडीई) द्वारा डिजाइन एवं विकसित किया गया है।

वायु यान को दो ‘अंडरस्लैंग बूस्टर’ का इस्तेमाल करते हुए उड़ाया गया। यह एक छोटे गैस टर्बाइन इंजन द्वारा चालित है और इसमें एक इनर्शियल नेवीगेशन सिस्टम (आईएनएस) और मार्गदर्शन और नियंत्रण के लिए एक फ्लाइट कंट्रोल कम्प्युटर (एफसीसी) है। इस यान को पूरी तरह से स्वचालित उड़ान के लिए प्रोग्राम किया गया है।

बयान में कहा गया है कि परीक्षण के दौरान यान ने पांच किलोमीटर उड़ान ऊंचाई, 0.05 मैक की गति आदि जरूरतों को सफलतापूर्वक हासिल किया। (एजेंसी)