Fuel demand in the country reached 80-85 percent of the earlier level of coronavirus
File Pic

भुवनेश्वर: केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने ओडिशा (Odisha) के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (Naveen Patnayak)से लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (National Digital Health Mission) (एनडीएचएम) और आयुष्मान भारत – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई) को राज्य में लागू करने का आग्रह किया है।

पटनायक को लिखे एक पत्र में पेट्रोलियम और इस्पात मंत्री ने कहा कि एनडीएचएम के तहत राज्य के गरीब प्रवासियों सहित सभी नागरिकों की भलाई सुनिश्चित करने के लिए प्रौद्योगिकी की शक्ति का लाभ उठाया जायेगा। एनडीएचएम की शुरूआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को की थी।

एनडीएचएम को एक समग्र और स्वैच्छिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के रूप में बताते हुए, प्रधान ने कहा कि इसमें भारत में डिजिटल स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे के परिवर्तन के लिए सभी संबंधित हितधारक शामिल होंगे। उन्होंने पत्र में कहा कि एनडीएचएम देश के स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में एक क्रांति लाएगा, जहां स्वास्थ्य सेवा हासिल करने के दौरान नागरिकों के सामने आने वाली चुनौतियों को कम से कम करने में प्रौद्योगिकी प्रमुख भूमिका निभाएगी। इस पत्र की एक प्रति मीडिया को जारी की गई है।

प्रधान ने कहा कि,”एनडीएचएम एबीपीएमजेएवाई के साथ एकीकृत होने पर राज्यों को अधिकतम लाभ प्रदान किया जायेगा और यह गरीबों की सेवा करने का अवसर देगा। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत देश में 50 करोड़ लाभार्थी शामिल हैं जिनमें से 60 लाख से अधिक लाभार्थी ओडिशा में है।”

केन्द्रीय मंत्री ने पटनायक से ओडिशा में आयुष्मान भारत के साथ-साथ एनडीएचएम को लागू किये जाने में अपना समर्थन देने का अनुरोध किया।(एजेंसी)