Lakshya and PV Sindhu

    बर्मिंघम. लक्ष्य सेन (Lakshya Sen) गुरुवार को ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप (All england badminton championships) के क्वार्टर फाइनल (Quarter finals) में जगह बनाने वाले सबसे युवा भारतीय खिलाड़ी बने जबकि ओलंपिक रजत पदक विजेता पी वी सिंधू ने आसान जीत के साथ अंतिम आठ में प्रवेश किया। मौजूदा विश्व चैंपियन सिंधू (PV Sindhu) ने अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन करके महिला एकल के दूसरे दौर के एकतरफा मैच में डेनमार्क की लाइन क्रिस्टोफरसेन को 21-8, 21-8 से करारी शिकस्त दी। उनका अगला मुकाबला जापान की तीसरी वरीयता प्राप्त अकाने यामागुची से होगा।

    इससे पहले अल्मोड़ा के रहने वाले 19 साल के लक्ष्य ने फ्रांस के थॉमस रूक्सेल को 21-18 21-16 से शिकस्त दी। लेकिन एच एस प्रणय और बी साई प्रणीत की जोड़ी को पुरुष एकल के दूसरे दौर में हार का सामना करना पड़ा। लक्ष्य ने 2019 में पांच खिताब जीते थे, अब उनका सामना नीदरलैंड के मार्क कालजोऊ के बीच होने वाले मुकाबले के विजेता से होगा। वह एशियाई जूनियर चैम्पियनशिप खिताब, विश्व जूनियर चैम्पियनशिप का कांस्य और युवा ओलंपिक खेलों का रजत पदक भी जीत चुके हैं।

    शीर्ष 10 रैंकिंग में में रह चुके प्रणय हालांकि दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी केंटो मोमोटा की बाधा पार नहीं कर सके। जापान का यह खिलाड़ी दुर्घटना के बाद पहला टूर्नामेंट खेल रहा है जिसके कारण पिछले साल उन्हें आंख की सर्जरी करानी पड़ी थी। भारतीय खिलाड़ी को 48 मिनट तक चले मुकाबले में मोमोटा से 15-21 14-21 से हार मिली।

    दूसरी तरफ प्रणीत पहला गेम जीतने के बावजूद डेनमार्क के विक्टर एक्सलसेन से 21-15, 12-21, 12-21 से हार गये। सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की मिश्रित युगल जोड़ी भी टूर्नामेंट से बाहर हो गयी, उन्हें शुरूआती दौर में जापान के युकी कानेको और मिसाकी मातसुटोमो से 19-21 9-21 से हार का सामना करना पड़ा। पूर्व नंबर एक खिलाड़ी साइना नेहवाल को बुधवार को चोट लगने के कारण अपने शुरूआती महिला एकल मैच से हटने लिये बाध्य होना पड़ा था जबकि चार पुरूष खिलाड़ियों ने दूसरे दौर में प्रवेश किया था।

    साइना को दायीं जांघ में परेशानी हो रही थी जिससे उन्होंने बुधवार की रात को डेनमार्क की सातवीं वरीयता प्राप्त मिया ब्लिचफेल्ट के खिलाफ शुरूआती दौर के मैच में रिटायर होने का फैसला किया, तब वह 8-21 4-10 से पिछड़ रही थीं। पुरूष एकल में समीर वर्मा ने ब्राजील के यगोर कोल्हो को 21-11 21-19 से पराजित किया था।

    समीर का सामना डेनमार्क के तीसरे वरीय एंडर्स एंटोनसेन से होगा और यह भारतीय खिलाड़ी जनवरी में टोयोटा थाईलैंड ओपन में मिली करीबी हार का बदला चुकता करना चाहेगा। मिश्रित युगल में प्रणव जेरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी को शुरूआती दौर में डेनमार्क के रास्मस एस्पर्सन और क्रिस्टिन बुश की जोड़ी से 15-21 17-21 से हार का सामना करना पड़ा। (एजेंसी)