India's Jhilli Dalabehera grabs gold at Asian weightlifting championships

इस प्रतियोगिता को पिछले साल महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया था।

    ताशकंद. भारत की झिली डालाबेहड़ा (Jhilli Dalabehera) ने रविवार को यहां एशियाई भारोत्तोलन चैम्पियनशिप (Asian Weightlifting Championships) की 45 किग्रा स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपनी झोली में डाला जिसमें सिर्फ दो ही भारोत्तोलकों ने हिस्सा लिया।

    जूनियर विश्व चैम्पियनशिप की कांस्य पदक विजेता झिली ने स्नैच में 69 किग्रा और इसके बाद क्लीन एवं जर्क में 88 किग्रा का वजन उठाया। वह गोल्ड स्तर की ओलंपिक क्वालीफायर प्रतियोगिता में कुल 157 किग्रा का वजन उठाकर तीनों वर्गों में पोडियम में शीर्ष स्थान पर रहीं। इस प्रतियोगिता को पिछले साल महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया था।

    हालांकि 45 किग्रा ओलंपिक वजन वर्ग नहीं है। इस स्पर्धा का रजत पदक फिलीपींस की मैरी फ्लोर डायज ने 135 किग्रा (60 किग्रा और 75 किग्रा) का वजन उठाकर हासिल किया।इस जीत से झिली ने पिछले चरण में अपने रजत पदक के प्रदर्शन में सुधार किया। हालांकि 2019 चरण में उनका प्रदर्शन शानदार रहा था जिसमें उन्होंने 162 किग्रा (71 किगा और 91 किग्रा) का भार उठाया था।

    उनका स्वर्ण इस तरह टूर्नामेंट में भारत का दूसरा पदक था। स्टार भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने शनिवार को क्लीन एवं जर्क वर्ग में विश्व रिकार्ड बनाते हुए कांस्य पदक जीता था।ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाली चानू ने स्नैच में 86 किग्रा का भार उठाया। उन्होंने क्लीन एवं जर्क में 119 किग्रा के विश्व रिकार्ड से कुल 205 किग्रा का वजन उठाया जो उनका व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी रहा।