ISSF World Cup Lead-up to Tokyo Olympics most important part of my life, says Indian shooter Sanjeev Rajput

भारतीय जोड़ी ने फाइनल में उक्रेन के सेरही कुलीश और अन्ना इलिना को 31 - 29 से हराया।

    नयी दिल्ली. अपनी शैली और तकनीक के साथ प्रयोग कर रहे अनुभवी निशानेबाज संजीव राजपूत (Sanjeev Rajput) ने इस साल के तोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) की तैयारियों को अपने जीवन का ‘सबसे महत्वपूर्ण’ चरण करार देते हुए कहा कि वह फाइनल्स में अपने प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए काम करना चाहते हैं।

    राजपूत (Sanjeev Rajput) और तेजस्विनी सावंत ने आईएसएसएफ विश्व कप (ISSF World Cup) में शुक्रवार को 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंस मिश्रित टीम स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता । भारतीय जोड़ी ने फाइनल में उक्रेन के सेरही कुलीश और अन्ना इलिना को 31 – 29 से हराया।

    उन्होंने कहा, ‘‘फाइनल्स में मुझे कुछ बदलाव के साथ थोड़ी और मेहनत करने की जरूरत है, मुझे सुधार करने पर ध्यान देना होगा। मौसम की स्थिति (व्यक्तिगत योग्यता में) को देखते हुए मिश्रित टीम क्वालीफिकेशन के नीलिंग और प्रोन में मैंने अच्छा किया।उन्होंने कहा, ‘‘फाइनल में एक अलग तरह का दबाव होता है, सीमित निशाने लगाने होते हैं और बहुत सारे लोग, मीडिया देख रहा है। इसलिए कई बार छोटी-छोटी बातों को नजरअंदाज कर दिया जाता है।”

    ‘‘क्वालीफिकेशन के प्रदर्शन से मैं काफी खुश हूं, मैने स्टैंडिंग में 98, 98 और 95 का स्कोर किया। मैंने आज फाइनल में अच्छा नहीं किया क्योंकि मैं कुछ प्रयोग कर रहा था। इस 40 साल के निशानेबाज ने 2019 रियो डि जेनेरियो विश्व कप के दौरान 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंन में ओलंपिक कोटा हासिल किया था।

    ओलंपिक की तैयारियों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘यह मेरे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण चरण है, मैं 2008 और 2012 में ओलंपिक में भाग ले चुका हूं। नौ साल बाद यह एक बहुत ही अलग ओलंपिक होगा, यह सभी के लिए अलग होगा।”