जहीर खान: ”बुमराह को आक्रामक और अतिरिक्त जोखिम उठाने की जरूरत”

खेल, भारत के पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान का मानना है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज में जसप्रीत बुमराह को अधिक आक्रामक और अतिरिक्त जोखिम उठाने की जरूरत है। हाल में हुए वन-डे सीरीज में वे एक

खेल, भारत के पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान का मानना है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज में जसप्रीत बुमराह को अधिक आक्रामक और अतिरिक्त जोखिम उठाने की जरूरत है। हाल में हुए वन-डे सीरीज में वे एक भी  विकेट लेने में असफल रहें थे। बुमराह ने न्यूजीलैंड के खिलाफ सभी तीन वन-डे मैच खेले, उन्होंने 30 ओवरों में 167 रन दिए लेकिन कोई विकेट हासिल नहीं कर सके। बता दें कि बुमराह  पिछले साल स्ट्रेस फ्रेक्चर के कारण चार महीने क्रिकेट से दूर रहें थे।

जहीर ने कहा कि  बुमराह को तेज गेंदबाज को फॉर्म में वापसी के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। जिससे प्रतिद्वंद्वी बल्लेबाजों को उनके खिलाफ खेलने में ज्यादा सतर्कता बरतनी पड़े। जहीर ने जसप्रीत बुमराह पर कहा कि इतनी ख्याति हासिल करने के बाद आपको इससे जूझना होता है। आप को समझने की जरूरत है कि विकेट हासिल करने के लिए थोड़ा अतिरिक्त आक्रामक और जोखिम लेने की जरूरत है। भारत टी-20 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 5-0 से जीत हासिल करने के बाद वन-डे सीरीज में मेजबानों से 0-3 से हार गया। जिसमें बुमराह का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा।

जहीर ने कहा कि बुमराह का सामना करने में  बल्लेबाजों को थोड़ी सतर्कता बरतनी होगी। ‘उन्होंने कहा कि वह जानता हे कि बल्लेबाज थोड़े रक्षात्मक होंगे इसलिए उसे बल्लेबाजों के गलती करने की उम्मीद करने के बजाए विकेट झटकने का तरीका ढूंढना होगा। बल्लेबाज काफी सतर्क रवैया अपना रहे हैं और वे सुनिश्चित करेंगे कि बुमराह विकेट हासिल नहीं कर सकें’।

जहीर ने कहा कि अन्य बल्लेबाज उन्हें  इतना सम्मान दे रहे हैं यह अच्छा संकेत है इसलिए अब बुमराह की जिम्मेदारी उन्हें खेलने के लिए उकसाने की है। उसे खुद को बताना होगा कि ‘मेरा काम रन रोकना नहीं है, मेरा काम विकेट झटकना है और इस प्रक्रिया में अगर मेरी गेंदों पर रन भी बनते हैं तो बनने दो। मैं मुख्य गेंदबाज हूं इसलिए मुझे दबदबा बनाना होगा।’ भारत और न्यूजीलैंड के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज 21 फरवरी से वेलिंगटन में शुरू होगी।