Former Indian table tennis player Suhas Kulkarni dies of COVID-19

    नई दिल्ली. भारतीय टेबल टेनिस महासंघ (TTFI) ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके खिलाड़ियों के लिए 20 जून से सोनीपत में अभ्यास शिविर शुरू करने की योजना बनाई है। टीटीआईएफ की कोशिश कोविड-19 के कारण प्रभावित हुई खिलाड़ियों के अभ्यास की कमी को कुछ हद तक दूर करने की है। इस साल मार्च में चार खिलाड़ियों शरत कमल, जी साथियान, मनिका बत्रा और सुतीर्थ मुखर्जी ने क्वालिफिकेशन हासिल किया था लेकिन देश में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर ने उन्हें व्यक्तिगत अभ्यास तक सीमित कर दिया। टीटीएफआई के सलाहकार एमपी सिंह ने पीटीआई से कहा, ‘‘ तैयारियां आदर्श नहीं रही हैं लेकिन महामारी के बीच आप इसमें ज्यादा कुछ नहीं कर सकते। 

    अब हम 15 दिवसीय शिविर के लिए साइ (भारतीय खेल प्राधिकरण) की मंजूरी का इंतजार कर रहे हैं। इसे एक-दो दिन में मिल जाना चाहिए।” उन्होंने कहा, ‘‘कुल 12 खिलाड़ी और चार सहयोगी सदस्य शिविर का हिस्सा होंगे। खिलाड़ियों ने पहले भी डीपीएस सोनीपत में प्रशिक्षण लिया है, इसलिए वे सुविधा के साथ सहज हैं।” साथियान को छोड़कर ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले खिलाड़ी इस शिविर का हिस्सा होंगे। साथियान कोविड-19 के दौर में यात्रा से बचने के लिए चेन्नई में अपने कोच एस रमन के साथ अभ्यास जारी रखना चाहते है। ओलंपिक जाने वाले खिलाड़ियों के अलावा अर्चना कामथ, सानिल शेट्टी और मानव ठक्कर समेत भारत के अन्य खिलाड़ी भी सोनीपत में होंगे।

    सिंह ने कहा, ‘‘खिलाड़ियों की 17 जून को यहां पहुंचने के बाद आरटी-पीसीआर जांच होगी और जब 20 जून से शिविर शुरू होगा, तो हर दिन रैपिड एंटीजन परीक्षण किये जाएंगे। अपने चौथे ओलंपिक में भाग लेने के लिए तैयार शरत को डेनमार्क में प्रशिक्षण के लिए वीजा नहीं मिला और इसलिए वह टीम के माहौल में अभ्यास की उम्मीद कर रहे हैं। वह और साथियान एकल में प्रतिस्पर्धा करेंगे लेकिन इस अनुभवी खिलाड़ी का ज्यादा ध्यान मनिका के साथ मिश्रित युगल पर है।

    मनिका और शरत की जोड़ी ने 2018 एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीत कर चौंकाया था। इस जोड़ी के पास तोक्यो में भारत के लिए एक और अच्छा परिणाम हासिल करने का मौका होगा। शरत ने कहा, ‘‘ मनिका और मैंने क्वालीफायर से पहले और उस दौरान अपने मूवमेंट पर ध्यान दिया। अब हमें मैच में खेलने की स्थिति में बेहतर होने की जरूरत है। कोविड-19 के कारण हमारी तैयारी आदर्श से बहुत दूर रही है लेकिन हमें इस शिविर का सर्वोत्तम उपयोग करने की जरूरत है।” (एजेंसी)