पहलवान दीपक पूनिया पोलैंड ओपन से हटे, जानें वजह

    नई दिल्ली. ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके भारतीय पहलवान दीपक पूनिया बायें हाथ की चोट के बढ़ने से बचने के लिए मंगलवार को पोलैंड ओपन से हट गए।  टोक्यो खेलों से पूर्व यह अंतिम रैंकिंग सीरीज प्रतियोगिता है और पूनिया को 86 किग्रा वर्ग में चुनौती पेश करनी थी लेकिन वह अमेरिका के जाहिद वेलेंसिया के खिलाफ क्वार्टर फाइनल मुकाबले से हट गए। पता चला है कि 2019 विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता को वारसॉ के लिए रवाना होने से दो या तीन दिन पहले अभ्यास के दौरान चोट लगी थी।

    भारतीय टीम के एक सूत्र ने बताया, ‘‘वह नहीं चाहता था कि उसकी चोट बढ़े और उसने महासंघ को सूचित कर दिया था कि वहां पहुंचने के बाद ही वह प्रतिस्पर्धा पेश करने पर फैसला करेगा। आज सुबह अपने हाथ के आकलन के बाद उसने नहीं खेलने का फैसला किया।” भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) ने इसकी पुष्टि की है। डब्ल्यूएफआई के सहायक सचिव विनोद तोमर ने कहा, ‘‘हां, हमने उसे विकल्प दिया था। हम पहलवानों पर दबाव नहीं बनाना चाहते, ओलंपिक करीब हैं, इसलिए जोखिम लेने का कोई मतलब नहीं है।”

    पूनिया ट्रेनिंग शिविर के लिए पांच जुलाई तक टीम के साथ रहेंगे। शिविर का आयोजन पोलैंड के महासंघ ने किया है। डब्ल्यूएफआई तुर्की, रोमानिया और रूस के साथ भी बात करके भारत के ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले पहलवानों के लिए ट्रेनिंग शिविर के आयोजन का प्रयास कर रहा है। पूनिया के हटने से प्रतियोगिता में अब सिर्फ तीन भारतीय पहलवान बचे हैं। ओलंपिक खेलों में 57 किग्रा में क्वालीफाई करने वाले रवि दाहिया पोलैंड ओपन में 61 किग्रा वर्ग में चुनौती पेश करेंगे। विनेश फोगाट (53 किग्रा) और अंशु मलिक (57 किग्रा) शुक्रवार को महिला स्पर्धा में चुनौती पेश करेंगे। (एजेंसी)