असम में बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, हमने कामों का सेतु बांधे और कांग्रेस ने लटकाए

    • हर बात में भेदभाव करना कांग्रेस की आदत
    • हमने शांति के सेतु बांधे हैं
    • कांग्रेस के पास न तो ‘नेता’ है और न ही ‘नीती’

    कांग्रेस का मतलब है, विनाश की गारंटी। कांग्रेस का ट्रैक रिकॉर्ड है- अस्थिरता, गरीबों से विश्वासघात, चाय बागान में काम करने वाले श्रमिकों को धोखा देना, हिंसा और अलगाववाद, घुसपैठियों को बढ़ावा देना

    सिपाझर: असम विधानसभा चुनाव (Assam Assembly Election) में प्रचार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) बुधवार को सिपाझर (Sipajhar) में एक चुनावी सभा (Election Rally) को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने एक और जहां अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड रखा, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस (Congress) पर जमकर निशाना साधा। प्रधानमंत्री ने कहा, “भाजपा सरकार (BJP Government) ने छह साल में राज्य के अंदर कामों का सेतु बांधे हैं, वहीं कांग्रेस ने केवल लटकाने का काम किया।”

    प्रधानमंत्री ने कहा, “आज असम के हर हिस्से में एक समान विकास हो रहा है, जबकि हर बात में भेदभाव करना कांग्रेस की आदत और संस्कार है। हमने शांति के सेतु बांधे हैं, 5 साल में हिंसा पर लगाम लगी है जबकि कांग्रेस के शासन में हिंसा आम बात थी।”

    असम की शौर्य परंपरा का अभिनंदन

    आज असम राइफल्स का 186वां स्थापना दिवस है, असम राइफल्स का देश की रक्षा में गौरवमयी इतिहास रहा है। मैं असम की धरती से असम की शौर्य परंपरा का अभिनंदन करता हूं।

    नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

    कांग्रेस के पास न नेता न नीति 

    पीएम मोदी ने कहा, “राशन कार्डों को डिजिटल कर दिया गया है। ‘वन नेशन वन राशन कार्ड’ से गरीब देश में कहीं से भी राशन खरीद सकते हैं। ऐसी सुविधा डबल इंजन सरकार द्वारा प्रदान की गई है। हालांकि कांग्रेस के पास न तो ‘नेता’ है और न ही ‘नीती’, यह केवल झूठ फैला रहा है।”

    उन्होंने आगे कहा, “कांग्रेस के दशकों के शासन के बाद भी, असम में केवल तीन प्रमुख पुल ही बनाए जा सके। लेकिन एनडीए के छह साल के शासनकाल के दौरान यहां ढोला सादिया, बोगीबिल, सरायघाट सहित कई पुलों पर काम शुरू हो गया है।”

    कांग्रेस का मतलब है, विनाश की गारंटी

    प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “कांग्रेस का मतलब है, विनाश की गारंटी। कांग्रेस का ट्रैक रिकॉर्ड है- अस्थिरता, गरीबों से विश्वासघात, चाय बागान में काम करने वाले श्रमिकों को धोखा देना, हिंसा और अलगाववाद, घुसपैठियों को बढ़ावा देना। कांग्रेस के लिए घुसपैठिए ही सब कुछ हैं।”