Dilip Ghosh

कोलकाता: भाजपा (BJP) की पश्चिम बंगाल (West Bengal) इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने एक रैली में तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी (TMC MP Abhishek Banerjee) द्वारा उनके लिए कथित तौर पर अभद्र भाषा का प्रयोग करने के लिए सोमवार को उन्हें कानूनी नोटिस भेजा। इसके साथ ही घोष ने कहा कि एक विपक्षी पार्टी के नेता के लिए बनर्जी के आचरण में शिष्टाचार का अभाव था।

ज्ञात हो कि बनर्जी ने रविवार को दक्षिणी चौबीस परगना जिले में आयोजित एक रैली में कथित तौर पर घोष के विरुद्ध अपमानजनक शब्दों का प्रयोग किया था जिसके लिए घोष ने वकील ने उन्हें नोटिस भेजा।

घोष ने कहा कि तृणमूल नेता द्वारा लगाए गए आरोपों पर अदालत निर्णय देगी और इसके साथ ही समाज को सोचना होगा कि इस प्रकार की राजनीति की अनुमति होनी चाहिए या नहीं। अभिषेक बनर्जी, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे हैं और उन्हें तृणमूल कांग्रेस में नंबर दो की हैसियत वाला नेता माना जाता है।

घोष ने भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा, “पार्टी में नंबर दो की हैसियत रखने वाले नेता विपक्षी दल के प्रदेश अध्यक्ष के लिए इस प्रकार की भाषा का प्रयोग कर रहे हैं। कानून तो अपना काम करेगा लेकिन दूसरों के प्रति सभ्य आचरण भी होना चाहिए।”

बनर्जी ने रविवार को सतगछिया में आयोजित एक रैली में घोष की आलोचना की थी। घोष ने कहा, “समाज उनसे (बनर्जी) कुछ शिष्टाचार की अपेक्षा रखता है। कानून तो औपचारिकता हैं, लेकिन व्यक्ति द्वारा किया गया आचरण मायने रखता है।”