Dilip Ghosh

    कोलकाता. भाजपा (BJP) की पश्चिम बंगाल (West Bengal) इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने मंगलवार को कहा कि पार्टी उन कार्यकर्ताओं के साथ खड़ी है जो चुनाव परिणाम की घोषणा के बाद तृणमूल कांग्रेस (TMC) से संबद्ध गुंडों का अत्याचार झेल रहे हैं। राज्य चुनाव बाद की हिंसा के गिरफ्त में है और इस दौरान कथित तौर पर भाजपा के कई कार्यकर्ताओं की मौत हो गयी एवं कई अन्य घायल हो गये। केंद्र ने विपक्षी कार्यकर्ताओं पर हमले की घटनाओं पर राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है।

    घोष ने कहा, “मैंने प्रतिकूल स्थितियों में भाग जाने की राजनीति नहीं की है । हमने मुश्किल लड़ाई लड़ी है।” उन्होंने कहा कि भाजपा ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में रिकार्ड 77 सीटें जीती हैं। उधर तृणमूल कांग्रेस 213 सीटें जीतकर विजयी हुई है और वह लगातार तीसरी बार सरकार बनाएगी। घोष ने दावा किया कि उन स्थानों पर हमले किये जा रहे हैं जहां तृणमूल कांग्रेस भारी बहुमत से जीती है।

    उन्होंने कहा कि लेकिन भाजपा नेतृत्व अपने कार्यकर्ताओं के साथ खड़ा है जिन्होंने अपनी जान जोखिम में डालते हुए चुनाव लड़ा है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा, “हम लड़ रहे हैं और आगे भी लड़ते रहेंगे। आज या कल बंगाल भाजपा के हाथों बदलाव का साक्षी बनेगा।”

    भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने कहा, “हम नतीजे का बाद में विश्लेषण कर लेंगे। हमारा सर्वोच्च कर्तव्य कार्यकर्ताओं के साथ खड़ा रहना है।”

    भाजपा ने दावा किया है कि विभिन्न स्थानों पर उसके छह कार्यकर्ता मारे गये हैं, हुगली जिले में पार्टी के एक कार्यालय को जला दिया गया और कई क्षेत्रों में उसके समर्थकों की दुकानें फूंक दी गयीं। राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि कई जिलों में चुनाव बाद हिंसा होने की खबरें मिलने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें फोन करके राज्य की कानून व्यवस्था की स्थिति पर क्षोभ प्रकट किया। (एजेंसी)