abhishek Banerjee and Wife Rujira

    कोलकाता. तृणमूल कांग्रेस (TMC) के सांसद अभिषेक बनर्जी (MP Abhishek Banerjee) की पत्नी रुजिरा बनर्जी (Rujira Banerjee) ने सोमवार को सीबीआई (CBI) के समन का जवाब देते हुए कहा कि कथित कोयला चोरी घोटाले में पूछताछ के लिए केन्द्रीय एजेंसी अपना एक दल मंगलवार को उनके घर पर भेजे। यह जानकारी अधिकारियों ने दी। सीबीआई ने रविवार को जांच में शामिल होने के लिए रुजिरा को समन भेजा था। सीबीआई की एक टीम पूछताछ के लिए सोमवार को तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी की बहन मेनका गंभीर के कोलकाता स्थित आवास पहुंची। अभिषेक टीएमसी की युवा इकाई के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के भतीजे हैं।

    केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो की एक टीम रविवार को रुजिरा को कथित कोयला चोरी मामले की जांच में शामिल होने के लिए नोटिस देने कोलकाता स्थित घर गई थी। रुजिरा घर पर मौजूद नहीं थीं। रुजिरा ने सोमवार को समन का जवाब देते हुए सीबीआई से मंगलवार को पूर्वाह्न 11 बजे से अपराह्न तीन बजे के बीच अपने आवास पर आने को कहा।

    उन्होंने सीबीआई को लिखे एक पत्र में कहा, “हालाकि मैं इस कारण से अनभिज्ञ हूं कि मुझे पूछताछ के लिए क्यों बुलाया जा रहा है या जांच का विषय क्या है, आप अपनी सुविधानुसार कल 23 फरवरी 2021 को पूर्वाह्न 11 बजे से अपराह्न दोपहर तीन बजे के बीच मेरे आवास पर आ सकते हैं।” उन्होंने कहा, “आप कब आएंगे कृपया इसकी जानकारी मुझे दे दें।”

    उधर, सीबीआई की दो महिला अधिकारी पूछताछ के लिए सोमवार को रूजिरा की बहन मेनका गंभीर के कोलकाता स्थित आवास पहुंची और उनसे करीब तीन घंटे तक पूछताछ की। उन्होंने बताया कि सीबीआई की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा के अधिकारियों ने उनके वित्तीय लेन-देन की जानकारी हासिल की। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों से पहले तृणमूल कांग्रेस के नेता के रिश्तेदारों से एजेंसी पूछताछ कर रही है। राज्य में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

    केंद्रीय जांच एजेंसी ने गत नवंबर में चोरी रैकेट के कथित सरगना मांझी उर्फ लाला, ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड (ईसीएल) के महाप्रबंधकों-अमित कुमार धर (तत्कालीन कुनुस्तोरिया क्षेत्र और अब पांडवेश्वर क्षेत्र) तथा जयेश चंद्र राय (काजोर क्षेत्र), ईसीएल के सुरक्षा प्रमुख तन्मय दास, क्षेत्र सुरक्षा निरीक्षक, कुनुस्तोरिया, धनंजय राय और एसएसआई एवं काजोर क्षेत्र के सुरक्षा प्रभारी देबाशीष मुखर्जी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। आरोप है कि मांझी उर्फ लाला कुनुस्तोरिया और काजोर क्षेत्रों में ईसीएल की पट्टे पर दी गईं खदानों से कोयले के अवैध खनन और चोरी में लिप्त हैं। (एजेंसी)