kumarswamy

    बेंगलुरु. कर्नाटक (Karnataka) में सत्तारूढ़ भाजपा (BJP) में कलह खुलकर सामने आने के साथ विपक्षी कांग्रेस और जद(एस) (JD(S)) ने बी एस येदियुरप्पा (B S Yediyurappa) नेतृत्व वाली सरकार को बर्खास्त करने की मांग की। जद (एस) ने दावा किया कि नेतृत्व नहीं रहने के कारण राज्य में अराजकता फैल रही है। कुछ धड़ों में नेतृत्व में बदलाव को लेकर लगाए जा रहे कयास के बीच भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और कर्नाटक के प्रभारी अरुण सिंह लगातार पार्टी नेताओं के साथ विचार-विमर्श कर रहे हैं। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया और एच डी कुमारस्वामी ने भाजपा पर कटाक्ष किया।

    कांग्रेस नेता और विधानसभा में विपक्ष के नेता सिद्धरमेया ने ट्वीट किया, “भाजपा में कलह के कारण राज्य में फैली अराजकता के मद्देनजर मैं मांग करता हूं कि राज्यपाल को दखल देना चाहिए और तुरंत भाजपा नेतृत्व वाली सरकार को बर्खास्त कर देना चाहिए।”

    उन्होंने कहा कि सत्ता का केंद्र ‘विधान सौध’ के बजाय भाजपा कार्यालय और कुमारकरूपा अतिथि गृह हो गया है क्योंकि मंत्री अपने कार्यालय आते नहीं और जनता की समस्या सुनने वाला कोई नहीं है। सिद्धरमैया ने कहा कि ऐसे समय जब लोग कोविड-19 और लॉकडाउन का सामना कर रहे हैं ‘‘सरकार खुद आईसीयू में पहुंच गयी है।”

    वहीं जद (एस) के नेता कुमारस्वामी ने कहा, ‘‘मीडिया की खबरों में कहा गया है कि मौजूदा नेतृत्व (येदियुरप्पा) को बदलने के लिए नेता की तलाश शुरू हो गयी है लेकिन कोई सुयोग्य व्यक्ति नहीं मिला है।” कुमारस्वामी ने ट्वीट किया, ‘‘अगर नेतृत्व ही नहीं है तो सरकार का क्या काम…सबसे पहले इसे भंग कर दें।”

    पूर्व मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने दावा किया कि सत्तारूढ़ दल के विधायक खुद ही कह रहे हैं कि मौजूदा नेतृत्व अपेक्षा पर खरा नहीं उतरा है और पद पर बदलाव होना चाहिए। (एजेंसी)