Drug dealer injured in police encounter

    मोरीगांव: असम के मोरीगांव जिले में पुलिस मुठभेड़ में नशीली दवाओं का संदिग्ध व्यापारी घायल हो गया। जानकारी अनुसार, व्यक्ति कथित तौर पर शुक्रवार को पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश कर रहा था। 

    जानकारी के अनुसार,  राज्य में दो महीने पहले भाजपा नीत दूसरी सरकार के सत्ता संभालने के बाद कम से कम 15 संदिग्ध आतंकवादी एवं अपराधी पुलिस मुठभेड़ में मारे गए हैं और 24 अन्य घायल हुए हैं जो या तो पुलिस हिरासत से कथित तौर पर भागने या सर्विस हथियार छीनने की कोशिश कर रहे थे।  

    एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मोइराबारी इलाके के ड्रग माफिया को पुलिसकर्मियों ने सगुनबाही गांव में बृहस्पतिवार देर रात एक बजे के करीब गोली मारी थी जब वह हिरासत से भागने की कोशिश कर रहा था।  (एजेंसी )  

    पुलिस के एक सूत्र ने बताया कि, यह घटना तब हुई जब आरोपी को नशीली दवा तस्करी के गिरोह के खिलाफ अन्य अभियान के लिए चार (रेती वाले) इलाके में ले जाया गया था। अधिकारी ने बताया कि अंतर-राज्यीय गिरोह में शामिल संदिग्ध ड्रग तस्कर को उसके घुटने पर गोली मारी गई थी और उसे इलाज के लिए गोहाटी मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। उसे 14 जुलाई को पड़ोस के नगांव जिले से गिरफ्तार किया गया था।  

    पुलिस अधिकारी ने बताया कि, उसके नगांव, मोरीगांव और कार्बी अंगलोंग जिलों के ड्रग माफियाओं और नगालैंड के दिमापुर के अपराधियों से संपर्क थे। पिछले दो महीनों में हिरासत से “भागने की कोशिश” के दौरान कई संदिग्ध उग्रवादियों और अपराधियों को मार गिराने वाली पुलिस मुठभेड़ों की बढ़ती संख्या ने असम में एक राजनीतिक कोहराम मचा दिया है। (एजेंसी )