Finance Minister Dr. Rameshwar Oraon wrote a letter to Union Minister Piyush Goyal, demanding Rs 180 crore outstanding

    ओमप्रकाश मिश्र 

    रांची. झारखंड के खाद्य आपूर्ति और वित्त मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव (Dr. Rameshwar Oraon) ने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Union Minister Piyush Goyal) को पत्र (Letter) लिखकर भारतीय खाद्य निगम (FCI) पर झारखंड सरकार के बकाया 180 करोड़ रुपये के अविलंब भुगतान में सहयोग की मांग की है। खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव ने केंद्रीय मंत्री को पत्र लिखकर बताया कि राज्य सरकार ने धान खरीद के एवज में किसानों को बोनस दिये जाने का निर्णय लिया था। 

    धान खरीद के लिए राज्य सरकार की नोडल एजेंसी झारखंड राज्य खाद्य निगम की ओर से वर्ष 2020-21 में 60.85 लाख टन धान अधिप्राप्ति का लक्ष्य रखा गया था, जिसके विरुद्घ 62.41 लाख टन धान की खरीद की गयी जो 102 प्रतिशत है, पिछले वर्ष की तुलना में काफी अधिक है। इसके एवज में राज्य सरकार को 943.21 करोड़ एमएसपी और बोनस के रूप में भुगतान करना था। इसके एवज में राज्य सरकार की ओर से 568.50करोड़ का भुगतान कर दिया गया है, जबकि  किसानों के पूर्ण भुगतान के लिए 374.71करोड़ की आवश्यकता है। जिसमें से एफसीआई के पास बकाया 180 करोड़ है। 

    भाजपा नेताओं पर कसा तंज

    जैसे-जैसे एफसीआई से राशि प्राप्त हो रही है, वैसे-वैसे किसानों के भुगतान के लिए जिला को राशि उपलब्ध करा दी जा रही है। इसके अलावा राज्य सरकार की ओर से 290 करोड़ रुपये कर्ज  लेकर किसानों के बकाया भुगतान की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है और जल्द ही एक-एक पाई किसानों का चूकता हो जाएगा। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दुबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव और डॉ. राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि धान खरीद का बकाया और किसानों के मुद्दे को लेकर कल धरना देने जा रहे भाजपा नेताओं को पहले केंद्र सरकार के उपक्रम एफसीआई के पास बकाया 180 करोड़ रुपये का भुगतान कराने में मदद करनी चाहिए, उसके बाद धरना पर बैठना चाहिए।