Tarun Gogoi

दिसपुर. असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का आज 86 साल की उम्र में निधन हो गया है। वह कोरोना से संक्रमित थे। इस बात की जानकारी राज्य के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व शर्मा ने दी है।

सोमवार सुबह गोगोई की स्वास्थ्य स्थिति और बिगड़ गयी। डॉक्टरों ने गोगोई की हालत “बेहद नाजुक” होने की जानकारी दी थी। उनका इलाज गौहाटी मेडिकल कॉलेज (जीएमसीएच) में चल रहा था। उन्हें दो नवंबर को भर्ती कराया था। वहीं उनकी हालत बिगड़ने पर उन्हें शनिवार की रात वेंटिलेटर पर रखा गया था और उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। रविवार को उनका डायलिसिस किया गया जो छह घंटे तक कायम रहा। बता दें गोगोई 25 अक्टूबर को कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये थे।

गोगोई 2001 से तीताबोर विधानसभा क्षेत्र से विधायक थे। वह तीन बार असम के मुख्यमंत्री, छह बार सांसद भी रहे और दो बार केंद्रीय मंत्री बने।

पूर्व मुख्यमंत्री के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जाताया है। उन्होंने कहा अपने अधिकारिक ट्वीटर अकाउंट पर लिखा, “तरुण गोगोई एक लोकप्रिय नेता और अनुभवी प्रशासक थे, जिन्हें असम के साथ-साथ केंद्र में भी राजनीतिक अनुभव था। उनके निधन से दुखी हूँ। दुख की इस घड़ी में मेरे विचार उनके परिवार और समर्थकों के साथ हैं। ओम शांति।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी गोगोई के निधन पर दुख जाताया है। उन्होंने अपने अधिकारिक  ट्वीटर अकाउंट पर लिखा, “असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के निधन से बेहद दुखी हूँ। देश ने एक अनुभवी नेता को समृद्ध राजनीतिक और प्रशासनिक अनुभव के साथ खो दिया है। कार्यालय में उनका लंबा कार्यकाल असम में युगांतरकारी परिवर्तन का काल था।”

राष्ट्रपति ने आगे कहा, “उन्हें हमेशा असम के विकास के लिए और विशेष रूप से राज्य में कानून और व्यवस्था में सुधार और उग्रवाद से लड़ने के अपने प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। उनका निधन एक युग के अंत का प्रतीक है। दुख की इस घड़ी में उनके परिवार, दोस्तों और समर्थकों के प्रति संवेदना।”

राहुल गांधी ने गोगोई के निधन पर कहा, “तरुण गोगोई एक सच्चे कांग्रेसी नेता थे। उन्होंने अपना जीवन असम के सभी लोगों और समुदायों को एक साथ लाने के लिए समर्पित कर दिया।”

गांधी ने कहा, “मेरे लिए, वह एक महान और बुद्धिमान शिक्षक थे। मैं उसे बहुत प्यार करता था और उसका सम्मान करता था। मैं उसे याद करूँगा। मेरा प्यार और गौरव और परिवार के प्रति संवेदना।”

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गोगोई के निधन पर शोक प्रकट किया और उनके शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना जताई। शाह ने ट्वीट कर कहा, “असम के पूर्व मुख्यमंत्री और लोकप्रिय राजनेता तरुण गोगोई के निधन की सूचना से स्तब्ध हूं। भगवान इस दुख की घड़ी में उनके परिवार को शक्ति दें। उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं।”

असम के राज्यपाल जगदीश मुखी गोगोई के निधन पर शोक व्यक्त किया। राज्यपाल ने कहा कि गोगोई के निधन से वह बहुत दुखी हैं। उन्होंने कहा, “उनका निधन राज्य के साथ-साथ देश के लिए भी अपूरणीय क्षति है। मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री और लोकसभा सदस्य के तौर पर दिवंगत गोगोई ने करुणा और समर्पण भाव से लोगों की सेवा की।” मुखी ने गोगोई के परिजन के प्रति संवेदना प्रकट की।