अद्भुत! मां, बेटे के शव पर हाथ रखकर बोली उठ जा मेरे बच्चे, चलने लगीं मासूम की सांसें, डॉक्टर मृत कर चुके थे घोषित

    हरियाणा. हरियाणा से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां डॉक्टरों ने छह साल के बच्चे को मृत घोषित कर दिया गया था, लेकिन मां की पुकार से बच्चा फिर जीवित हो उठा। लोग इसे भगवान का करिश्मा मान रहे हैं तो कोई इसे मां की ममता की शक्ति कह रहा है। बच्चे के दोबारा जन्म लेने की खबर शहर में आग की तरह फैल गई है। घटना के बारे में  सुनकर हर कोई हैरान है। बच्चे के बचने से सबके मन में खुशी है।  

    रिपोर्ट के अनुसार मामला हरियाणा के बाहदुरगढ़ का है, जहां के निवासी हितेश और उसकी पत्नी जाह्ववी के बेटे को टाइफाइड हो गया था। इलाज के लिए  26 मई को डॉक्टरों के पास ले जाया गया था लेकिन डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया।

    अंतिम संस्कार की तैयारी थी शुरू  

    जिसके बाद बेटे के शव को लेकर बहादुरगढ ले आया गया। अंतिम संस्कार की तैयारिया चल रही थी। बच्चे की मां और उसकी ताई उसे प्यार से बार बार उठन के लिए पुकार रही थीं। मां बार-बार यह कह रही थी कि उठ जा मेरे लाल, उठ जा। कुछ देर बाद बच्चे के शरीर में हरकत होने लगी। इसे देखते ही पिता हितेश ने उसे चादर की पैकिंग से बाहर निकाला और फिल्मों की तरह उसे मुंह से सांस देने लगे। इतने में बच्चे ने पापा के होंठों पर अपने दांत गड़ा दिया।

    जान आते ही तुरंत हॉस्पिटल ले गए 

    परिजन बच्चे की हरकत देखकर तुरंत उसे रोहतक के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में ले गए। डॉक्टरों ने परिवार वालों से कहा गया कि बच्चे के बचने की उम्मीद कम है। डॉक्टरों ने इलाज शुरू किया और बच्चे में तेजी से रिकवरी होने लगी। अब बच्चा पूरी तरह से ठीक होकर मंगलावार घर पहुंच गया है। बच्चे के ठीक होने से घर में रौनक लौट आई है।  

    जहां बच्चे के अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही थी, वहां खुशियां लौट आई है। बच्चे को नया जन्म मिला है। परिवार ख़ुशी के मारे लोगों में मिठाइयां बांट रहे हैं। और पापा हितेश बच्चे के दांतों से लगे जख्म को दिखाकर खुशी का इजहार कर रहे हैं, और भगवान का शुक्रिया कर रहे हैं।