ramdev

    -ओमप्रकाश मिश्र

    रांची. आयुर्वेद बनाम एलोपैथिक में उत्पन्न विवाद के दायरे में आये योग गुरु बाबा रामदेव द्वारा लगातार दिए जा रहे बयान से झारखंड इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के डॉक्टरों ने असंतोष जाहिर करते हुए बाबा राम देव के बयानों पर सख्त नाराजगी जाहिर की है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के झारखंड के चिकित्सकों ने आज योग गुरु बाबा रामदेव को लीगल नोटिस भेजा है। आईएमए के अध्यक्ष डॉ. शंभू प्रसाद सिंह और सचिव डॉ. प्रदीप कुमार सिंह की तरफ से भेजे गए नोटिस में कहा गया है कि बाबा रामदेव एलोपैथ पर रह रह कर गलत बयानबाजी कर रहे है इससे डॉक्टरों की छवि धूमिल हो रही है आईएमए के अध्यक्ष और सचिव ने बाबा रामदेव से बिना शर्त वीडियो जारी कर डॉक्टर समुदाय से माफी मांगने की मांग की है।

    बाबा रामदेव को आज भेजे गए लीगल नोटिस में कहा गया है कि  बिना तथ्य और उचित तर्क  के बाबा रामदेव की  तरफ से लगातार जारी किए जा रहे बयान से डॉक्टर समुदाय अपमानित महसूस कर रहे हैं। अपनों के ही बीच उनका उपहास उड़ाया जा रहा है। उनके मरीज  उन्हें संदेह की  निगाह से देख रहे है।

     

    झारखण्ड आईएमए के डोक्टरों ने कहा कि  ऐसे समय में जब विश्व भर में कोविड आपदा के दौरान डॉक्टर अपनी जान गंवा कर  भी लोगों की सेवा में दिन-रात लगे हुए हैं। तब ऐसे समय में बाबा रामदेव का डोक्टरों को अपमानित करने वाला ब्यान आना उचित नहीं है।  उन्होंने बाबा रामदेव की आलोचना करते हुए कहा कि बाबा रामदेव को एलोपैथी ट्रीटमेंट की छवि को खराब करने का कोई कानूनी अधिकार नहीं है।

    झारखण्ड आईएमए की राज्य कार्यसमिति की संपन्न हुई एक बैठक में आज  डोक्टरों ने सर्वसम्मति से बाबा रामदेव के गलत बयानबाजी का विरोध करते हुए उन्हें लीगल नोटिस भेजने का निर्णय लिया। भेजे गए नोटिस में डोक्टरों ने नाराजगी जाहिर करते हुए बाबा रामदेव को एलोपैथ पर किये जा रहे बयानबाजी को अविलम्ब बंद करने और अब तक के दिए बयान पर सार्वजानिक तौर पर विडियो जारी कर माफ़ी मागने की मांग की है। एलोपैथ पर दिए गए बयान को झारखण्ड के डोक्टरों ने बेतुका करार दिया है। डोक्टरों का कहना  है कि बाबा रामदेव योग गुरु है उन्हें एलोपैथ, मेडिकल साइंस की पूरी जानकारी ले कर ही इस तरह का  बयानबाजी करना चाहिए।  बैठक में राज्य के चिकित्सकों  ने लीगल नोटिस भेजने का निर्णय लिया और बाबा रामदेव पर क़ानूनी कार्रवाई करने की मांग की है।