Kerala gold smuggling case: NIA special court dismisses Swapna Suresh's bail plea

    तिरुवनंतपुरम: केरल सोना तस्करी (Kerala Gold Smuggling) मामले में प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने उच्च न्यायालय (High Court) में कई अहम दस्तावेज दाखिल किये हैं। ईडी द्वारा दाखिल हलफनामे में मामले में मुख्य आरोपी स्वप्न सुरेश ने केरल विधानसभा अध्यक्ष पी श्रीरामकृष्णन (P.Shriramkrushnan) पर बड़ा और गंभीर आरोप लगाया है। सुरेश ने ईडी को बताया कि, “स्पीकर उन्हें गंदे इरादों से अपने फ्लैट पर बुलाते थे।”

    ज्ञात हो कि, सोना तस्करी मामले में केरल की राजनीति में भूचाल आया हुआ है। इस मामले में आरोपी स्वप्ना ने मुख्यमंत्री पी. विजयन समेत राज्य सरकार में तीन मंत्री और स्पीकर पर इसमें शामिल होने का आरोप लगाया हुआ है। 

    मना करने पर नौकरी देने से किया इनकार 

    16 दिसंबर 2020 को अटाकुलंगरा स्थित वनिता जेल में स्वप्ना ने ईडी के उप-निदेशक (कोच्चि) के सामने अपने बयान में बताया कि, “जब मुझे वहां बुलाया, उसने मुझे सुरक्षित महसूस कराने के लिए फ्लैट के मालिक के बारे में बताया। वह गंदे इरादों से मुझे बुलाता था। लेकिन, जब मैंने इनकार कर दिया तो उसने मुझे मिडिल ईस्ट पर खोले जाने वाली स्कूल में नौकरी देने से इनकार कर दिया।”

    ज्ञात हो कि, स्वप्ना का यह उस बयान समय आया है, जब राज्य में विधानसभा चुनाव का प्रचार जोरों पर हैं। जिसका खामियाजा सीपीएम सरकार को आगामी चुनाव में भुगतना पड़ सकता है। इस मामले को लेकर विपक्षी दल पहले से ही सरकार और मुख्यमंत्री पर हमलवार हैं। वहीं एक और खुलासे के बाद चुनाव में इसे जोर जोर से उठाया जाएगा।