Aisha

    अहमदाबाद. गुजरात (Gujarat) के अहमदाबाद (Ahmedabad) से एक अजीब सी घटना सामने आई। जहां एक विवाहिता ने साबरमती नदी (Sabarmati River) में कूदकर आत्महत्या (Suicide) कर ली है। महिला का नाम आयशा आरिफ खान है। आत्महत्या से पहले उसने सोशल मीडिया पर एक इमोशनल वीडियो शेयर किया, जिसमें उसने कहा कि, जितनी भी जिंदगी मिली सुकून है। अब वह खुदा से मिलना चाहती है।

    आयशा ने वीडियो में क्या कहा?

    आयशा ने वीडियो में कहा, “हैलो, अस्सलाम अलेकुम, मेरा नाम आयशा आरिफ खान…और मैं जो कुछ भी करने जा रही हूं, मेरी मर्जी से करने जा रही हूं। इसमें किसी का दबाव नहीं है, अब बस क्या कहें? ये समझ लीजिए कि खुदा की दी जिंदगी इतनी ही थी और मुझे इतनी जिंदगी बहुत सुकून वाली मिली। और डैड, कब तक लड़ोगे? केस विड्रॉल कर लीजिए।”

    आयशा ने कहा, “एक चीज जरूर सीख रही हूं कि मोहब्बत करनी है तो दो तरफा करो, क्योंकि एकतरफा में कुछ हासिल नहीं है। मोहब्बत तो निकाह के बाद भी अधूरी रहती है। ऐ प्यारी सी नदी, प्रे करते हैं कि मुझे अपने में समा ले और मेरे पीठ पीछे जो भी हो, प्लीज ज्यादा बखेड़ा मत करना।”

    आयशा ने आगे कहा, “मैं हवाओं की तरह हूं, बस बहते रहना चाहती हूं। किसी के लिए नहीं रुकना, मैं खुश हूं कि आज के दिन जिन सवालों के जवाब चाहिए थे, वे मिल गए और मुझे जिसको जो बताना था, बता चुकी हूं। थैंक्यू, मुझे दुआओं में याद रखना। पता नहीं, जन्नत मिले न मिले। चलो अलविदा।”

    आयशा को किया गया दहेज के लिए प्रताड़ित

    आयशा के पिता लियाकत अली ने उसके ससुराल वालों पर बेटी को दहेज़ के लिए प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, “आयशा का निकाह 2018 में जालौर, राजस्थान में रहने वाले आरिफ खान से हुआ था, लेकिन शादी के बाद से ही उसे दहेज़ के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा था।”

    उन्होंने बताया कि, “कुछ महीनों पहले आरिफ आयशा को अहमदाबाद छोड़ गया था। बाद में रिश्तेदारों के समझाने पर आरिफ आयशा को साथ ले गया, लेकिन 2019 में आरिफ फिर से आयशा को हमारे पास छोड़ गया। आरिफ और उसके घर वाले डेढ़ लाख रुपए की मांग कर रहे थे। किसी तरह पैसों का इंतजाम कर उन्हें दे भी दिए थे। लेकिन उनकी लालच और बढ़ती गई।”

    पति ने कहा था- जाके मर जा और मरने का वीडियो भेज देना

    लियाकत अली ने बताया कि, “बेटी ने आत्महत्या करने से पहले मोबाइल पर फोन किया था। उसने बताया कि साबरमती नदी के ब्रिज पर खड़ी है और मरने जा रही है। हमने उसे समझाने की बहुत कोशिश की। यहां तक कि कुरान की कसम भी दी, लेकिन आयशा बस रोती रही और कहा कि आरिफ मुझे लेने नहीं आ रहा। मैंने कुछ दिन पहले उसे फोन किया था। उससे यह भी कहा था कि तुम्हारे बिना मर जाऊंगी, तो उसने बोला कि मरना है जाके मर जा और मरने का वीडियो भेज देना। इसी बात से आयशा टूट गई और उसने आत्महत्या कर ली।

    आयशा के आत्महत्या के बारे में पता चलते ही परिवार ने पुलिस को इसकी सूचना दी। इसके बाद फायर ब्रिगेड और रेस्क्यू टीम साबरमती नदी पहुंची और आयशा की लाश निकाली। आयशा ने 25 फ़रवरी को ही खुदकुशी की थी और लाश भी उसी दिन निकाली गई थी। आयशा का वीडियो शनिवार को सामने आया।