शुभेंदु अधिकारी के भाजपा में शामिल होने की हलचल तेज, केंद्र ने दी Z कैटेगरी सुरक्षा

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल (West Benagal) में जैसे जैसे चुनाव की तारीखे पास आ रही है, वैसे वैसे राजनीतिक हल चल तेज हो रही है। इन सब में सबसे ज्यादा चर्चा टीएमसी (TMC) के नेता शुभेंदु अधिकारी (Shubhendu Adhikari) की हो रही है, जिनके बगावती तेवरों ने ममता बैनर्जी (Mamta Bainarji) को मुश्किल में डाले हुए है। पिछले कई दिनों से उनके भाजपा (BJP) में शामिल होने की चर्चा है। इन्हीं चर्चाओं के बीच सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने शुभेंदु को Z कैटेगरी सुरक्षा दे दी है. जिसके बाद इन चर्चाओं को और बल मिल गया है। 

आईबी की रिपोर्ट के बाद मिली सुरक्षा 

गृह मंत्रालय के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आईबी ने अधिकारी को लेकर रिपोर्ट सौंपी है, जिसमें अधिकारी पर थ्रेट परसेप्शन की संभावना जताई है। इस रिपोर्ट के बाद ही केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अधिकारी को जेड कैटेगरी की सुरक्षा दी है।

जनाधार और मजबूत पकड़वाले नेता 

बंगाल में शुबेंदु अधिकारी की पहचान एक जनाधार और मजबूत पकड़ वाले नेता के तौर पर होती है। टीएमसी में ममता के बाद सभी कार्यकर्ताओं में स्वीकार्य नेता सिर्फ शुबेंदु ही है। वह ममता के सबसे करीबी नेताओं में गिने जाते हैं, लेकिन पिछले कई दिनों से उनके बीच मनमुटाव होगया। दोनों नेताओं की बीच दुरी इतनी बढ़ गई कि अधिकारी ने राज्य मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। वहीं खबर आरही की वह जल्द ही विधायक पद से भी इस्तीफा दे सकते हैं।

शुभेंदु अधिकारी का पहला कार्यालय भगवा रंग में नहाया

पूर्व मेदिनीपुर जिले के कांथी में शुभेंदु अधिकारी के नाम पर पहला कार्यालय खोला गया है। इस कार्यालय को शुभेंदु बाबू सहायता केंद्र नाम दिया गया है। इसके पहले यह तृणमूल कांग्रेस व्यवसाई समिति का कार्यालय था जिसका रंग नीला और सफेद था, जो रातों-रात भगवा में तब्दील हो गया। जिसके बाद से ही उनके भाजपा में जाने की अटकले तेज होगई थी। वहीं केंद्र से सुरक्षा मिलने के बाद इसमें और बल मिल रहा है।