MK Stalin and Pallaniswami

रामनाथपुरम/मदुरै. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी अन्नाद्रमुक ने तीनों कृषि विधेयकों का समर्थन किया क्योंकि उनसे किसानों को लाभ पहुंचेगा लेकिन द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन को चश्मे से देखने के बाद भी कोई कमी नहीं दिखी, उसके बाद भी उन्होंने उसके खिलाफ प्रदर्शन की घोषणा की है।

नयी परियोजनाओं का उद्घाटन करने और लाभार्थियों के बीच सरकार की कल्याण सहायता वितरित करने रामनाथपुरम आये पलानीस्वामी ने कहा कि उनकी पार्टी का लक्ष्य किसानों की हितों को सुरक्षा प्रदान करना है।

उन्होंने रामनाथपुरम में संवाददाताओं से कहा, ‘‘चूंकि तीनों विधेयकों ने किसानों को लाभ पहुंचाया है, इसलिए हमने उनका समर्थन किया। ” उन्होंने कहा, ‘‘ हम किसानों को लाभ पहुंचाने पर केंद्रित किसी भी पहल का समर्थन करेंगे और साथ ही वैसी किसी भी योजना का विरोध करेंगे जो उन्हें प्रभावित करेगा और यह हमारा रूख है जिसे हमने साफ दिया है।”

जब उनका ध्यान स्टालिन की इस आलोचना की आकृष्ट किया गया कि मुख्यमंत्री अपने आप को किसान कहते हैं लेकिन कृषि विधेयकों का समर्थन कर रहे हैं तो उन्होंने कहा कि जल संसाधन पुनरूद्धार योजना और बांधों के निर्माण समेत कृषक कल्याण की कई योजनाएं लागू की गयीं।

पलानीस्वामी ने कहा, ‘‘मैं किसान हूं। आज तक मैं खेती कर रहा हूं और मुझे खुद को किसान कहने पर गर्व है। ” उन्होंने कहा कि स्टालिन को कृषि के बारे में कुछ पता नहीं है और वह सरकार में कोई कमी नहीं ढूढ सके एवं बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्टालिन संसद से पारित विधेयकों के बारे में बिना कुछ जाने बोल रहे हैं।