Rajeev gandhi

चेन्नई. तमिलनाडु के मत्स्यपालन मंत्री डी जयकुमार ने शुक्रवार को कहा कि राज्य सरकार अपने इस रुख पर कायम है कि राजीव गांधी हत्याकांड के सात दोषियों को रिहा किया जाए और इसके लिए वह केंद्र पर दबाव बनाती रहेगी। जयकुमार ने कहा कि दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता के समय से इस रुख में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

उन्होंने विश्वास जताया कि राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित उम्रकैद की सजा काट रहे सातों दोषियों की समय पूर्व रिहाई के लिए राज्य मंत्रिमंडल की सिफारिश पर जल्द सही फैसला लेंगे। तमिलनाडु सरकार के मंत्रिमंडल ने 9 सितंबर, 2018 को आम-सहमति से एक प्रस्ताव पारित कर राज्यपाल से दोषियों मुरुगन, संथन, पेरारिवलन, रॉबर्ट पायस, जयकुमार, रविचंद्रन और नलिनी को रिहा करने की सिफारिश की थी।

यह तमिलनाडु में बहुत संवेदनशील मुद्दा रहा है और कांग्रेस तथा भाजपा को छोड़कर सभी राजनीतिक दल दोषियों की जल्द रिहाई के पक्ष में रहे हैं। जब संवाददाताओं ने जय कुमार से पूछा कि क्या शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की चेन्नई यात्रा के दौरान राज्य सरकार उनके साथ इस मुद्दे को उठाएगी तो उन्होंने कहा, “हम केंद्र पर दबाव बनाते आ रहे हैं और बनाते रहेंगे।”

इस बीच शाह की यात्रा की पूर्वसंध्या पर कुछ जानीमानी फिल्मी हस्तियों ने ट्विटर पर पेरारिवलन की रिहाई की मांग की। अभिनेता प्रकाश राज ने ट्वीट किया, “1,000 दोषी बच जाएं लेकिन एक बेगुनाह को दंडित नहीं किया जाना चाहिए।” अभिनेता विजय सेतुपति और निर्देशक कार्तिक सुब्बाराज ने भी पेरारिवलन की रिहाई की मांग की।