Mamta

कोलकाता. तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने गोरखालैंड (Gorkhaland) की मांग को समर्थन देने से बीते बृहस्पतिवार को इनकार कर दिया। इससे एक दिन पहले पार्टी ने जीजेएम अध्यक्ष बिमल गुरुंग (Bimal Gurung) का पार्टी में स्वागत किया था जो भाजपा पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए राजग से अलग हुए हैं।

वरिष्ठ तृणमूल नेता और लोकसभा सांसद सौगत रॉय ने कहा, “गोरखालैंड का कोई प्रश्न की नहीं उठता। हमने यह मांग बहुत पहले खारिज कर दी थी। बिमल गुरुंग ने खुद को भाजपा द्वारा ठगा गया महसूस किया तो इसलिए वह हमारी पार्टी के शामिल हुए। हम उनका स्वागत करते हैं और हम मिलकर भाजपा से मुकाबला करेंगे।” तृणमूल में शामिल होने के बाद गुरुंग ने बुधवार को स्पष्ट किया था कि वह गोरखालैंड की मांग से “पीछे नहीं हटेंगे” और 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले उनकी पार्टी ऐसे किसी भी दल के साथ गठबंधन करेगी जो इस मांग का समर्थन करेगा।