सीबीआई के नोटिस पर बोले अभिषेक बैनर्जी, “हम डरने वाले नहीं”

    कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bangal Assembly Election) के पहले मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी (Mamata Banerjee) की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है। रविवार को सीबीआई (CBI) ने उनके भतीजे और सांसद अभिषेक बैनर्जी (Abhishekh Banerjee) की पत्नी रुजीरा बैनर्जी को कोल स्मगलिंग (Coal Smuggling) को लेकर समन जारी कर दिया है। पत्नी को मिले नोटिस पर संसद ने कहा कि, “उन्हें कानून पर भरोसा है, लेकिन वो सोच रहे होंगे की हम डर जाएंगे तो यह गलत है, हम डरने वाले नहीं है।” 

    बैनर्जी ने ट्वीट में लिखा, “आज दोपहर 2 बजे, सीबीआई ने मेरी पत्नी के नाम पर एक नोटिस दिया। हमें कानून पर पूरा भरोसा है। हालांकि, अगर उन्हें लगता है कि वे हमें डराने-धमकाने के लिए इन कदमों का उपयोग कर सकते हैं, तो वे गलत हैं। हम वे नहीं हैं, जिन्हें कभी भी डराया जाएगा।”

    24 घंटे में हजारी होने का आदेश 

    रविवार सुबह सीबीआई की एक टीम कोलकाता पहुंची। जहां डायमंड हार्बर से सांसद अभिषेक बैनर्जी की की पत्नी रुजीरा बैनर्जी से पूछताछ करना चाहती है। इसी को लेकर जांच एजेंसी से नोटिस दिया हुआ है। वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सीबीआई ने रुजीरा जांच में सहयोग करने को कहा है

    रुजीरा घर पर मौजूद नहीं 

    सीबीआई सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सांसद की पत्नी रुजीरा घर पर मौजूद नहीं है। जांच एजेंसी आज पूरा दिन उनका इंतजार करेगी, उसके बाद अगले कदम क्या लेना है वह तय करेगी सीबीआई ने अस्पस्ट कर दिया है कि, वह घर में ही उनसे पूछताछ करेगी

    क्या है आरोप?

    कोयला माफिया ने राज्य में कोयला स्मगलिंग के लिए बंगाल की सत्तारूढ़ टीएमसी के नेताओं को नियमित रूप से रिश्वत दी है। यह पैसा पार्टी के युवा नेता विनय मिश्रा के जरिए नेताओं को दिया गया। जो इस मामले पर फरार चल रहा है। सीबीआई ने उसके खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया हुआ है। एजेंसी ने ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड के कुनुस्तोरिया और कजोरिया कोयला क्षेत्रों से अवैध खनन और कोयले की चोरी की जांच के लिए पिछले साल नवंबर में मामला दर्ज किया था।