प्रधानमंत्री मोदी का ममता बनर्जी पर कड़ा प्रहार, ‘दीदी’ आप मुझे लात मार सकती हो, लेकिन जनता….

    बांकुरा: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) के प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने रविवार को बांकुरा (Bankura) में एक चुनावी सभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) पर कड़ा प्रहार किया। प्रधानमंत्री ने कहा, “दीदी, अगर तुम चाहो तो अपना पैर मेरे सिर पर रख सकते हो और मुझे लात मार सकते हो। लेकिन दीदी, मैं आपको बंगाल के विकास और इसके लोगों के सपनों को मारने नहीं दूंगा।”

    दीदी विकास कहां है?

    प्रधानमंत्री ने कहा, “दीदी, आपने पिछले 10 वर्षों में केवल खोखली घोषणाएं की हैं, आप जिस काम का दावा करती हैं, वह कहां है? आप ‘खेले होबे’ कहती रहती हैं, जबकि पश्चिम बंगाल के लोगों ने ‘खेले शीश होबे’ (खेल समाप्त हो जाएगा) का फैसला किया है।”

    प्रधानमंत्री ने आगे कहा, “दीदी के लोग बंगाल की गलियों में भित्तिचित्र बना रहे हैं, जिसमें वह अपने पैर से मेरा सिर पर मार रहे हैं और फुटबॉल खेल रहा है। दीदी, आप बंगाल की संस्कृति और परंपराओं का अपमान क्यों कर रही हैं?”

    रजनीती जनसेवा के लिए

    पीएम मोदी ने कहा, “मैं दीदी से जितना सवाल करता हूं, वह उतनी ही ज्यादा गुस्सा हो जाती हैं। अब वह कहती है कि उन्हें मेरा चेहरा पसंद नहीं है। दीदी, लोकतंत्र में, यह जनसेवा है न कि वह चेहरा जिसे परखने के लिए रखा गया है।”

    उन्होंने आगे कहा, “भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था पाने के लिए भाजपा सरकार को लाना जरूरी है। विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता देने के लिए, बंगाल के लिए भाजपा सरकार आवश्यक है।”

    दीदी ईवीएम पर सवाल उठाने

    लगी प्रधानमंत्री ने ईवीएम को लेकर हमला बोलते हुए  कहा, “ईवीएम पर दीदी पहले से ही सवाल पूछ रही हैं। यह वही ईवीएम है जिसने उसे 10 साल तक सत्ता में बनाए रखा। वह आगामी चुनावों में अपनी हार देख रही है। बंगाल के प्रत्येक व्यक्ति को बिना किसी भय के मतदान करने की शक्ति का प्रयोग करना चाहिए।” उन्होंने कहा, “दीदी (ममता बनर्जी) भ्रष्टाचारे खेला चालबे ना चालबे ना, सिंडीकेट खेला चालबे ना, कटमनी खेला चालबे ना।”

    पहले दीखता को जनता वोट ना देती 

    राज्य में होरही राजनीतिक हिंसा और हत्याओं को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “दीदी (ममता बनर्जी) आपने अपना ये असली चेहरा 10 साल पहले दिखा दिया होता तो बंगाल में कभी आपकी सरकार नहीं बनती। अगर ये हिंसा, ये अत्याचार ही करना था तो आपने मां-माटी-मानुष की बात क्यों की?”

    उन्होंने कहा, “केंद्र सरकार हर घर जल पहुंचाने के लिए अभियान चला रही है। हमने सैकड़ों करोड़ रुपये बंगाल सरकार को दिया है। परन्तु यहां की बहन-बेटियां बूंद-बूंद पानी के लिए परेशान हैं। नल कहां है दीदी? जल कहां है दीदी? यहां खेतों में पानी क्यों नहीं है दीदी?”