ममता को फिर लगा झटका, एक और विधायक भाजपा में शामिल

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) प्रमुख और पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी (Mamata Bainarjee) को चुनाव के पूर्व झटके पर झटके लग रहे हैं। विधायकों का पार्टी छोड़ने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। इसी क्रम में शांतिपुर (Shantipur) से विधायक अरिंदम भटाचार्य (Arindam Bhattacharya) बुधवार को दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में टीएमसी छोड़ भाजपा (BJP) में शामिल हो गए। उन्हें पार्टी महासचिव और बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने पार्टी की सदस्यता दिलाई।

पार्टी में शामिल होने के बाद भट्टाचार्य ने कहा, “आज पश्चिम बंगाल की जो स्थिति है जिसे सुधारने की हमने कोशिश की, बार-बार सुझाव दिए परन्तु कोई समाधान नहीं निकला। पश्चिम बंगाल के नौजवानों का कोई भविष्य नहीं है, काम नहीं है।” भाजपा मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पार्टी महासचिव भूपेद्र यादव, अरुण सिंह और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहनवाज़ हुसैन उपस्थित थे।

कांग्रेस की टिकट पर जीता था चुनाव 

अरिंदम भटाचार्य ने 2016 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की टिकट पर विधायक बने थे। लेकिन बाद में वह टीएमसी में शामिल हो गए। वहीं अब वह भाजपा में शामिल होने वाले हैं। पेशे से वकील भटाचार्य पश्चिम बंगाल यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। 

शुभेंदु समेत कई नेताओं ने छोड़ी टीएमसी 

ज्ञात हो कि, विधायकों का पार्टी छोड़ भाजपा में शामिल होने का यह पहला मौका नहीं है। इसके पहले पार्टी के कद्द्वार नेता रहे शुभेंदु अधिकारी समेत दर्जन भर विधायक, पूर्व विधायक, सांसद, पूर्व सांसद और जिला परिषद प्रमुख टीएमसी छोड़ भाजपा में शामिल हुए हैं। 

बिरला ग्रुप के उपाध्यक्ष भाजपा में शामिल 

चुनाव के पहले लोगों का भाजपा में शामिल होने का सिलसिला लगातार शुरू है. इसी क्रम में आदित्य बिरला ग्रुप के उपाध्यक्ष रंजन बैनर्जी पार्टी में शामिल हो गए हैं। पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय ने उन्हें सदस्यता दिलाई। पार्टी में शामिल होने के बाद बैनर्जी ने कहा, “राज्य के लोगों की सेवा करने का मौका देने के लिए मैं भाजपा को धन्यवाद देता हूं। हमें यहां उद्योग लाने की जरूरत है ताकि लोगों को रोजगार मिल सके।”