CM Vijay Rupani said on the circumstances of the lockdown arising after the rising corona virus in Gujarat - Government is not in favor of imposing lockdown in the state
File

आणंद (गुजरात). गुजरात (Gujarat) के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी (Vijay Rupani) ने शनिवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस नए कृषि कानूनों का विरोध कर रही है जबकि पार्टी शासित राज्य पंजाब में कॉरपोरेट घरानों को ठेके पर खेती की मंजूरी दी गई। रूपाणी ने आणंद जिले के कर्मसाद में लोगों को संबोधित करते हुए दावा किया कि कांग्रेस के घोषणापत्र में भी कृषि उत्पादों को कृषि उपज बाजार समिति (एपीएमसी) के बाहर बेचने को मंजूरी देने की बात की गई थी।

उन्होंने कहा, “मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूं कि क्यों पंजाब में आपकी सरकार ने, आपके मुख्यमंत्री (अमरिंद सिंह) ने बड़ी कंपनियों को कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग (ठेके पर खेती) की मंजूरी दी और मंच से मंजूरी पत्र क्यों बांटे।” उन्होंने कहा कि अब वे इसका विरोध कर रहे हैं।

रूपाणी ने कहा, “कॉन्ट्रैक्ट खेती भविष्य है और इसमें किसानों को उस कीमत का भरोसा होता है जो उन्हें उनके उत्पाद के लिए मिलेगी।” उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अतीत में पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिख कर कहा था कि किसानों को खुले बाजार में अपनी उपज बेचने की अनुमति दी जाए और 2019 के चुनाव घोषणापत्र में भी इसका वादा किया गया था।

रूपाणी ने आरोप लगाया कि “देश विरोधी तत्व” जो देश को प्रगति करते और किसानों को खुशहाल जिंदगी जीते नहीं देखना चाहते, वे कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे प्रदर्शनों में शामिल हो गए है। उन्होंने दावा किया, “किसान इसका हिस्सा नहीं हैं। देश भर के किसानों ने विपक्ष के भारत बंद में हिस्सा नहीं लिया था।”