woman was running away after stealing the newborn baby in the desire of the son, was caught

    ओमप्रकाश मिश्र 

    रांची.  बेटे की हसरत में एक महिला चोर बन गई। उसने यह भी नहीं सोचा कि 9 महीने कोख में पालने वाली मां पर क्या गुजरेगा। उसने अपना स्वार्थ देखा और नवजात शिशु को चुराकर  भाग गई, हालाँकि परिजनों की तत्परता से चोरी हुए शिशु को महिला के पास से बरामद कर लिया गया बच्चे के साथ पकड़ी गई महिला को पुलिस (Police) के हवाले कर दिया गया है। यह मामला चतरा जिले (Chatra District) के सदर अस्पताल (Sadar Hospital) की है। 

    अस्पताल प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसार, राजपुर थाना क्षेत्र के राजाचक गांव निवासी सीताराम की पुत्री और लातेहार जिले के मुरपा गाँव निवासी अरविन्द कुमार की पत्नी रजनी देवी ने विगत 1 जून को चतरा सदर अस्पताल में एक  बेटे को जन्म दिया। रजनी महिला वार्ड में भर्ती है। उसकी देखरेख के लिए उसकी माँ मंजू देवी और भाई राकेश रंजन अस्पताल परिषर में मौजूद थे। बच्चे की देख रेख रजनी की माँ मंजू देवी कर रही थी। वह  बच्चे को  बेड में सुलाकर कर शौचालय गयी थी। मौके की नजाकत को देखते हुए पहले से बच्चे की चोरी का मन बनाकर ताक पर बैठी अनीशा खातून सोते बच्चे को एक कपडे में लपेटकर चोरी छुपे अस्पताल से बाहर निकल गई। शौचालय से बाहर आने पर जब मंजू देवी ने बच्चे को बेड पर नहीं देखा तो वह जोर-जोर से चिल्लाने लगी। उसकी आवाज सुनकर वार्ड के बाहर सो रहे रजनी का भाई राकेश रंजन वहां पहुंचा। मंजू ने जैसे ही बच्चे की चोरी हो जाने की बात बताई पुरे अस्पताल में अफरा-तफरी मच गई।

    अनीशा खातून बेटे की चाह में बहुत परेशान रहती थी

    चोरी की जानकारी मिलते ही राकेश ने तत्परता दिखाई और अनुमान के तौर पर वह अस्पताल से बाहर भागा। उसने देखा एक महिला कपडे में लपेट कर कुछ ले जा रही है। राकेश को अपने पीछे आते देख वह तेज कदमोँ से आगे बढ़ने लगी। तभी राकेश बच्चा चोर कहकर चिल्लाया संयोग से सुबह टहलने निकले लोगों ने महिला को रोक लिया। बच्चा समेत पकड़े जाने पर लोगों ने पुलिस बुलाकर अनीशा खातून को पुलिस के हवाले कर दिया। पूछताछ में अनीशा खातून ने बताया की ईटखोरी थाना क्षेत्र के कल्याणपुर गांव निवासी इकबाल अंसारी उसका शौहर है और उसकी तीन बेटियां है, अनीशा खातून बेटे की चाह में बहुत परेशान रहती थी। जैसे ही उसे पता चला कि रजनी को बेटा पैदा हुआ है, उसने बेटे की चाह में उस बच्चे को चुरा लेने की मंशा बनायीं और शनिवार को तडके पांच बजे उसने मंजू के शौचालय जाने के मौके का फायदा उठाकर बच्चे को कपड़े में लपेटकर अस्पताल से फरार हो गई। बच्चा चोरी करने के आरोप में पूछताछ के बाद पुलिस ने अनीशा खातून को महिला पुलिस के हवाले कर दिया और बच्चे को उससे मुक्त कराकर बच्चे की माँ को सौंप दिया।