Will try more financial help from Center for flood affected districts of Karnataka: Yeddyurappa

बेंगलुरु. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा, मंत्रिमंडल विस्तार और मंत्रियों के विभागों में फेरबदल के सिलसिले में पार्टी आलाकमान की मंजूरी लेने के लिए इस सप्ताह दिल्ली जाने की योजना बना रहे हैं। मुख्यमंत्री के नजदीकी सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा बुधवार को दिल्ली जा सकते हैं।

येदियुरप्पा ने संवाददाताओं से कहा था कि राजराजेश्वरी नगर और सिरा विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार और मंत्रियों के विभागों में फेरबदल किया जा सकता है। मंत्रिमंडल विस्तार के मद्देनजर, भाजपा नेताओं के बीच मंत्रीपद के लिए राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। हाल ही में, भाजपा के कुछ विधायकों ने सिंचाई मंत्री रमेश जर्किहोली के आवास पर उनसे मुलाकात की थी जिसके बाद अटकलें लगनी शुरू हो गई थी कि मंत्रीपद की लालसा वाले नेताओं ने यह बैठक की थी।

बैठक में शामिल जी एच तिप्पा रेड्डी और पूर्णिमा श्रीनिवास राज्य मंत्रिमंडल में जगह पाने की इच्छा प्रकट कर चुके हैं। इनके अतिरिक्त आठ बार विधायक रह चुके उमेश कट्टी और होणाली से विधायक एम पी रेणुकाचार्य भी मंत्रीपद की इच्छा जता चुके हैं। राज्य विधान परिषद के सदस्य एम टी बी नागराज, ए एच विश्वनाथ और आर शंकर भी मंत्री बनने की इच्छा जता चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने पहले ही यह साफ कर दिया था कि राजराजेश्वरी नगर सीट पर उपचुनाव जीतने के बाद मुनीरत्ना को मंत्री बनाया जाएगा। अब जब मुनीरत्ना उपचुनाव जीत चुके हैं तो मंत्रिमंडल में उनका स्थान पक्का माना जा रहा है। कर्नाटक मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री समेत 27 मंत्री हैं और सात की जगह खाली है। येदियुरप्पा ने संकेत दिया था कि मंत्रिमंडल में अगला बदलाव केवल विस्तार तक ही सीमित नहीं होगा बल्कि बड़े स्तर पर मंत्रियों के विभागों में भी फेरबदल किया जाएगा। (एजेंसी)