corona

  • अब तक 453 संक्रमित, महामारी से गई एक और पुलिसवाले की जान

पिंपरी. महामारी कोरोना के संक्रमण से पिंपरी चिंचवड़ का पुलिसबल भी अछूता नहीं रहा है. 15 मई को शहर पुलिसबल में महामारी की एंट्री हुई. इसके बाद एक- एक कर सभी पुलिस थानों, क्राइम ब्रांच व मुख्यालय तक इसने पैर पसार लिए हैं. अब तक 16 फीसदी पुलिसबल कोरोना संक्रमित पाया गया है. 30 अगस्त को शहर में पहले पुलिसवाले की मौत के बाद एक और पुलिसकर्मी की कोरोना के चपेट में आकर मौत हो गई.

आलंदी पुलिस थाने में कार्यरत 56 वर्षीय अंबरनाथ रामजी कोकणे (पुलिस कालोनी, मोशी, पुणे) की 21 सितंबर को मौत हो गई. उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने पर पिंपरी के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. यहां उनकी कोविड टेस्ट भी की गई थी मगर रिपोर्ट आने से पहले ही उनकी मौत हो गई. दूसरे दिन उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव मिली. पिंपरी चिंचवड़ के पुलिसबल में कोविड से हुई यह दूसरी मौत है. इससे पहले 30 अगस्त को शहर के पहले पुलिसवाले की इस महामारी की चपेट में आकर मौत हो गई थी.

पिंपरी चिंचवड शहर में 10 मार्च को कोरोना का पहला मरीज मिला था. इसके दो माह तक शहर पुलिसबल में कोई संक्रमित नहीं मिला था. 15 मई को पुलिसबल में कोरोना की एंट्री हुई. एक पुलिस थाने के कर्मचारी को सबसे पहले कोरोना का संक्रमण हुआ था.उसके बाद पुलिसबल में कोरोना का संक्रमण बढ़ते चला गया.जबकि पुलिस प्रशासन ने अधिकारियों और कर्मचारियों की रोग प्रतिकार शक्ति बढाकर महामारी से बचाव करने की भरसक कोशिश की गई. अब तक 453 पुलिसवाले कोरोना से संक्रमित मिले हैं.

453 में से 404 पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों ने महामारी को मात देने में सफलता प्राप्त की है. फिलहाल 47 पुलिसवालों का इलाज जारी है.अब तक दो पुलिस कर्मचारियों की कोरोना की चपेट में आकर मौत हुई है. अब तक करीबन 16 फीसदी पुलिस बल कोरोना से संक्रमित पाया गया है.कई पुलिस अधिकारी और कर्मचारी तो दो- दो बार इस महामारी के संक्रमण का शिकार बने हैं. वारदातों की छानबीन के दौरान शहर और शहर- जिले से बाहर जाकर लौटे पुलिस कर्मचारी भी संक्रमित पाए जा रहे हैं. हालिया एक कुख्यात वाहनचोर को पकड़कर उससे 10 बुलेट समेत महंगी मोटरसाइकिलें बरामद करने वाली क्राइम ब्रांच की टीम भी कोरोना संक्रमित पायी गई है.इससे पुलिसबल में चिंता का माहौल व्याप्त है.